नई दिल्‍ली: पाकिस्‍तान की खुफिया एजेंसी ने भारत में एक बड़ा आतंकी हमला कराने का प्‍लान तैयार किया है. इसमें इस बार
नेपाल के बॉर्डर से आतंकी भेजकर बिहार में किसी बड़े हमले को अंजाम देने की तैयारी है. देश की खुफिया एजेंसियों से मिले
इनपुट के आधार पर राज्‍य में पुलिस और सुरक्षाबल हाई अलर्ट पर हैं. आतंकियों ने निशाने पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह समेत बीजेपी के कई सीनियर नेता व वीवीआईपी हैं. Also Read - Cyclone Tauktae : तौकते गंभीर चक्रवाती तूफान में बदला, मौतों की खबरें, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने की मीटिंग

न्‍यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, पाकिस्‍तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई ने पाक आर्मी के द्वारा प्रशिक्षित तालिबान और
जैश-ए-मोहम्‍मद के पांच-छह आतंकवादियों को बिहार भेजने का प्‍लान तैयार किया है. इन्‍हें नेपाल की सीमा से बिहार में प्रवेश
कराने की तैयारी है. Also Read - Oxygen issue : बीजेपी ने पूछा, दिल्‍ली सरकार क्‍यों सोचती हैं कि केंद्र भेदभाव कर रहा है?

राष्‍ट्रीय सुरक्षा एजेंसी NIA के कंट्रोल रूम से मिले इनपुट में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और अन्‍य बीजेपी के कई सीनियर
नेता आतंकवादियों के निशाने पर हैं. राष्‍ट्रीय सुरक्षा एजेंसी NIA ने यह जानकारी ई-मेल के जरिए राज्‍य को भेजी है. Also Read - Who is Himanta Biswa Sarma: पूर्वोत्तर के चाणक्य कहे जाते हैं हेमंत बिस्व सरमा, कभी कांग्रेस सरकार में थे मंत्री, आज बनेंगे असम के CM

राष्‍ट्रीय सुरक्षा एजेंसी के इनपुट में कहा गया है, “इनपुट के अनुसार, माननीय केंद्रीय गृह मंत्री और अन्य भाजपा नेताओं के
नाम वाली हिट लिस्‍ट का संकेत देने वाला एक धमकी भरा ईमेल प्राप्त एनआईए कंट्रोल रूम को हुआ था. कृपया कश्मीरी
आतंकवादियों, मुस्लिम कट्टरपंथियों” जैश-ए के आंदोलनों के लिए एक नज़र रखें. जैश- ए- मोहम्मद, अल कायदा और सभी
पाकिस्तान, तालिबान, अफगान, जिहादी आतंकवादी संगठन, इस्लामिक आतंकवादी संगठन, वामपंथी उग्रवादी तत्व और
उत्तर-पूर्वी विद्रोही समूह, अखिल भारतीय सुरक्षा संदिग्‍ध और जो घोर सांप्रदायिकवादी, वे वीवीआईपी की सुरक्षा को खतरे में
डाल सकते है. चेतावनी पढ़े.

“वीवीआईपी के दौरे खत्म होने के बाद से अब तक अपने अधिकार क्षेत्र में कड़ी निगरानी रखने का अनुरोध किया जाता है.
साथ ही यह भी कहा गया है कि वीवीआईपी को धमकी भरे पत्रों को संबोधित करने और वीवीआईपी स्थानों पर संदिग्ध
परिस्थितियों में घूमने वालों पर नजर रखने की आवश्यकता है.