Bihar Panchayat Chunav 2021: बिहार में एकतरफ कोरोना का बढ़ता कहर है तो वहीं दूसरी तरफ पंचायत चुनाव भी होनेवाले हैं. ऐसे में राज्य निर्वाचन आयोग के सामने बड़ी चुनौती है. जहां राज्य सरकार कोरोना संक्रमण की वजह से नाइट कर्फ्यू लगाने के साथ ही राज्य में संक्रमण को रोकने के लिए कई कदम उठा रही है तो वहीं, दूसरी तरफ बिहार समेत कई राज्यों में पंचायत चुनाव भी होने वाले हैं. ऐसे में अब दुविधा ये है कि चुनाव कैसे कराए जाएं.  बता दें कि बिहार में पंचायत प्रतिनिधियों का कार्यकाल जून में समाप्त हो रहा है लिहाजा अप्रैल-मई में ही चुनाव होने की बात कही जा रही है.Also Read - UP Assembly Election 2022: तीसरे चरण के मतदान के लिए आज जारी होगीअधिसूचना, 59 सीटों के लिए शुरू होगा नामांकन

 15 दिनों के लिए टला पंचायत चुनाव, अधिसूचना अभी जारी नहीं होगी
राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा 22, 23 और 24 अप्रैल को सुबह 11 से दोपहर 1 बजे तक अधिकारियों को पंचायत चुनाव के संबंधित ट्रेनिंग दी जानी थी, जिसमें  22 को पटना, सारण और कोसी प्रमंडल, 23 को तिरहुत, दरभंगा और पूर्णिया प्रमंडल और 24 को मगध, मुंगेर और भागलपुर प्रमंडल के अधिकारियों को ट्रेनिंग देने का कार्यक्रम तय किया गया था. Also Read - UP Assembly Election 2022: यूपी की 55 सीटों के लिए आज से शुरू हो रहा है नामांकन, जानिए कौन-कहां से भरेगा पर्चा, LIVE Updates

राज्य में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए राज्य निर्वाचन आयोग ने 22 अप्रैल से शुरू होने वाले प्रशिक्षण कार्यक्रम को भी स्थगित कर दिया है. यानी अब कोरोना संक्रमण के कहर की वजह से पंचायत चुनाव 15 दिनों के लिए टल गया है. इसकी वजह ये है कि राज्य निर्वाचन आयोग के उप सचिव समेत अन्य कर्मी भी कोरोना संक्रमित है. लिहाजा राज्य निर्वाचन आयोग ने चुनाव स्थगन को लेकर आदेश जारी किया है. Also Read - Omicron In Bihar: सीएम नीतीश ने कहा-बिहार में नहीं आया है कोई ओमिक्रॉन, आएगा तो हम हैं तैयार

बता दें कि बिहार पंचायत चुनाव 2021 के लिए राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा अप्रैल के अंत में अधिसूचना प्रस्ताव भेजने की कार्यवाही की जा रही थी. लेकिन देश के कई राज्यों के साथ बिहार में भी कोरोना संक्रमण ने आम लोगों के जीवन को अस्त-व्यस्त कर दिया. लिहाजा आम लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए फिलहाल जिला प्रशासन और प्रशासनिक अधिकारी बचाव के कार्य में लगे हुए हैं.

वहीं, राज्य निर्वाचन आयोग के साथ कई विभाग और अन्य क्षेत्रीय कार्यालय के पदाधिकारी और कर्मचारी भी कोरोना संक्रमित हो चुके हैं. ऐसे में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव 2021 की अधिसूचना पर 15 दिन बाद की स्थितियों की समीक्षा करने के बाद कोई निर्णय लेने की बात कही है.