Bihar Panchayat Election 2021: बिहार में पंचायत चुनाव के दसवें चरण का मतदान बुधवार को 34 जिलों के 817 पंचायतों में होगा. इसके लिए 7257 मतदान केंद्र बनाए गए हैं, जिनमें 509 नक्सल प्रभावित हैं. दसवें चरण में शांतिपूर्ण मतदान के लिए पुलिस मुख्यालय ने करीब 38 हजार पुलिस पदाधिकारियों व सुरक्षाबलों की तैनाती की है. इसमें जिला पुलिस बल के साथ होमगार्ड, बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस और सैप जवान शामिल किए गए हैं. बिहार के कई जिलों में यह पंचायत चुनाव का आखिरी चरण होगा. इसके बाद राज्‍य के कुछ जिलों में 11वें और अंतिम चरण के लिए चुनाव कराए जाएंगे.Also Read - Voter ID Card बनवाना है बेहद आसान, घर बैठे कर सकते हैं आवेदन, बस फॉलो करें ये प्रोसेस

कल सुबह सात बजे से वोटिंग शुरू हो जाएगी. अगर आपको भी वोट देना है और आपके पास वोटर कार्ड नहीं है तो इसके लिए घबराने की जरूरत नहीं है. कई और अन्य दस्तावेज से भी आप मतदान कर सकते हैं. इसके लिए चुनाव आयोग द्वारा व्यवस्था की गई है. Also Read - अब आप देश के किसी कोने में रहें, E-EPIC Card करें डाउनलोड और डालें अपना वोट, जानिए पूरी डिटेल्स

इन दस्तावेजों को दिखाकर भी दे सकेंगे वोट, जानिए Also Read - अगर आपने हाल ही में बदला है घर, तो जानें- कैसे वोटर ID कार्ड में ऑनलाइन अप्डेट करें पता

-आधार कार्ड
-ड्राइविंग लाइसेंस
-आयकर पहचान पत्र (पैन कार्ड)
-बैंकों व डाकघरों द्वारा जारी फोटोयुक्त पासबुक
-फोटो वाले पेंशन के दस्तावेज
-स्वास्थ्य बीमा योजना स्मार्ट कार्ड
-मनरेगा के तहत जारी फोटोयुक्त जॉब कार्ड
-राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर के तहत भारत के महापंजीयक द्वारा जारी स्मार्ट कार्ड
-राज्य व केंद्र सरकार के कार्यालय व सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों
-सांसदों, विधायकों, पार्षदों को जारी किए गए आधिकारिक पहचान पत्र
-फोटो वाले स्वतंत्रता सेनानी पहचान पत्र
-सक्षम प्राधिकारी द्वारा जारी फोटोयुक्त शारीरिक विकलांगता पहचान पत्र
-मान्यता प्राप्त शैक्षणिक संस्था द्वारा जारी शिक्षक, शिक्षकेत्तर कर्मी, विद्यार्थी के फोटोयुक्त पहचान पत्र
-पासपोर्ट
-फोटो वाले संपत्ति दस्तावेज (रजिस्ट्रीकृत केवाला)
-फोटो वाले शस्त्र लाइसेंस

जब्त किए गए अवैध हथियार, शराब बरामद  

कल यानी बुधवार को 10वें चरण का मतदान होना है और मतदान वाले जिलों में पुलिस की सख्ती जारी है. पुलिस मुख्यालय के अनुसार, पंचायत चुनाव के लिए आचार संहिता लगाए जाने के बाद से अभी तक इन जिलों से एक हजार से अधिक अवैध हथियार बरामद किए गए हैं. इसके साथ ही 5322 पर सीसीए के तहत कार्रवाई का प्रस्ताव दिया गया है जबकि 3408 के खिलाफ निरुद्धादेश प्रस्ताव पारित हुआ है. वाहन चेकिंग के दौरान 10 करोड़ 99 लाख से अधिक जुर्माना वसूला गया है, तो वहीं 12 लाख 61 हजार लीटर से अधिक शराब जब्त की गई है.