Bihar Assembly Election 2020: बिहार विधानसभा चुनाव के टिकट वितरण को लेकर बढ़ती नाराजगी के बीच कांग्रेस एक अभियान की योजना बना रही है जिसमें राहुल गांधी इसके स्टार प्रचारक होंगे. पार्टी सूत्रों ने कहा कि तीन चरण के चुनावों के दौरान, राहुल गांधी प्रत्येक चरण में छह रैलियों को संबोधित कर सकते हैं – जिसमें महागठबंधन के सहयोगियों के साथ एक संयुक्त रैली शामिल है. Also Read - कमलनाथ का ज्‍योतिरादित्य सिंधिया पर तंज, बीजेपी ने दूल्हा तो बना दिया, दामाद नहीं बनने देगी

पार्टी की योजना डिजिटल रूप से मतदाताओं तक पहुंचने की भी है क्योंकि कोरोना काल में लोग कांग्रेस की रैलियों और अन्य सार्वजनिक बैठकों में बड़ी संख्या में शामिल नहीं होना चाहते. बिहार में कांग्रेस पहले चरण में 21 सहित कुल 70 सीटों पर चुनाव लड़ रही है. Also Read - राहुल गांधी का PM मोदी पर हमला- पहली बार दशहरा में 'रावण' नहीं, प्रधानमंत्री का पुतला जलाया गया

बुधवार को पहले चरण के टिकटों की घोषणा की गई, जिसके बाद टिकट पाने में असफल रहे नेताओं में काफी नाराजगी है. मुस्लिम नेता पहले चरण के टिकट बंटवारे से संतुष्ट नहीं हैं. किसी भी अल्पसंख्यक को एक भी टिकट नहीं दिया गया. Also Read - भूमि कानूनों में संशोधनों पर कांग्रेस ने कहा- जम्मू-कश्मीर की जनता छला हुआ महसूस कर रही है

कांग्रेस के कार्यकर्ता दिल्ली में पार्टी मुख्यालय पर वरिष्ठ नेताओं द्वारा भाई-भतीजावाद का आरोप लगाते हुए विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. कुछ ने आरोप लगाया कि टिकट बेचे गए हैं. कांग्रेस का नेतृत्व इस तरह के विरोध और आरोपों को खारिज कर रहा है. पार्टी का कहना है कि इसके पास अपने कोटे की सीमित संख्या है और इसलिए सभी को टिकट नहीं दिया जा सकता.