नई दिल्ली. सपने को पूरा करने की लगन हो तो कोई भी मंजिल दूर नहीं होती. अपने सपने को पूरा करने की इसी धुन में बिहार के एक नौजवान ने गजब कारनामा कर दिखाया है. जी हां, बिहार के छपरा जिले के एक गांव के रहने वाले मिथिलेश प्रसाद का सपना आज पूरा हो गया, जब उसने नैनो कार को हेलिकॉप्टर बना डाला. यकीन नहीं होता हो तो देखिए यह तस्वीर, इसे देखकर आपको तनिक भी अंदाजा नहीं होगा कि यह हेलिकॉप्टर नहीं है. लेकिन मिथिलेश की लगन ने सड़क पर चलने वाली कार को हवा में उड़ने वाला हेलिकॉप्टर बना दिया है. हालांकि यह नैनो-हेलिकॉप्टर उड़ेगा नहीं, लेकिन इसे देखने वाला हर शख्स एकबारगी तो चौंक ही जाता है कि सड़क पर सरपट दौड़ती कार कहीं उड़ान न भरने लगे.

रोचक और जानकारीपरक खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com

छपरा के रहने वाले मिथिलेश प्रसाद के इस नैनो-हेलिकॉप्टर को देखकर आप भी एक बार चौंक जाएंगे. हेलिकॉप्टर की तरह लगे पंखे और पीछे का हिस्सा देखकर आपको भी लगेगा कि यह कार अब उड़ी कि तब उड़ी. लेकिन हकीकत में ऐसा है नहीं. मिथिलेश प्रसाद का कहना है कि वह बचपन से ही हवा में उड़ने का सपना देखा करता था. घर की आर्थिक कमजोरी ऐसी थी कि सपना पूरा करने की कोई उम्मीद नजर नहीं आ रही थी. ऐसे में उसे एक दिन ख्याल आया कि क्यों न अपना हेलिकॉप्टर ही बना लिया जाए.

बस इस विचार के दिमाग में आते ही मिथिलेश प्रसाद के ऊपर धुन सवार हो गई हेलिकॉप्टर बनाने की. सपना पूरा करने के लिए मिथिलेस ने ‘लखटकिया कार’ कही जाने वाली नैनो को ही उसने हेलिकॉप्टर की शक्ल देने की ठान ली. मिथिलेश ने मीडिया के साथ बातचीत में कहा भी, ‘मैं हमेशा से अपना हेलिकॉप्टर बनाना चाहता था, लेकिन घर की हालत को देखते हुए ऐसा करना मेरे लिए संभव नहीं था. इसलिए अपनी कार को ही मैंने हेलिकॉप्टर जैसा बनाने का फैसला किया.’

यह भी पढ़ें- केरल के इस सांसद के पास नहीं है कार, पार्टी क्राउड-फंडिंग के जरिए पैसे जुटाकर खरीदेगी

मिथिलेश की लगन और मेहनत से आज उसकी नैनो कार हेलिकॉप्टर बन चुकी है. जब पहली बार मिथिलेश ने अपनी कार को लोगों के सामने पेश किया तो किसी के लिए भी यह भरोसा करना कठिन था कि यह हेलिकॉप्टर नहीं है. अलबत्ता, गौर से देखने के बाद जरूर यह पता लगता था कि यह कारीगरी कमाल की है.