गोपालगंज: बिहार के गोपालगंज के हथुआ थाना क्षेत्र में रविवार की रात अपराधियों ने आरजेडी नेता ज़ेपी़ चौधरी के घर पर अंधाधुंध गोलीबारी कर दी, जिसमें उनके माता, पिता और भाई की मौत हो गई. पुलिस के एक अधिकारी ने सोमवार को बताया कि रूपनचक गांव में दो बाइक पर सवार अपराधियों ने राजद नेता चौधरी के घर पर गोलीबारी कर दी, जिसमें उनके पिता महेश चौधरी (65 ) और माता संकेशिया देवी (62) की घटनास्थल पर ही मौत हो गई. Also Read - बिहार में एक बार फिर आकाशीय बिजली ने मचाई तबाही, 20 लोगों की मौत, सरकार देगी मुआवजा

इस हमले में जेपी चौधरी और उनके भाई शांतनु चौधरी गंभीर रूप से घायल हो गए. अस्पताल में इलाज के दौरान शांतनु चौधरी ने भी दम तोड़ दिया. घायल जे.पी. चौधरी का अभी इलाज चल रहा है. Also Read - Coronavirus in Bihar: 24 घंटे में बिहार में कोरोना के 349 नए मामले, वायरस से अब तक 11 हजार 456 लोग संक्रमित

हथुआ के थाना प्रभारी अभय कुमार ने सोमवार को बताया कि घायल जे.पी. चौधरी के बयान के आधार पर प्राथमिकी दर्ज करने की कार्रवाई की जा रही है. चौधरी ने अपने बयान में कुचायकोट के जनता दल युनाइटेड विधायक अमरेंद्र कुमार पांडेय उर्फ पप्पू पांडेय, विधायक के बड़े भाई सतीश पांडेय व उनके पुत्र मुकेश पांडेय को नामजद आरोपी बनाया है, जबकि एक अज्ञात व्यक्ति पर भी हत्या का आरोप लगाया गया है. Also Read - बिहार में फिर टूटा आसमानी बिजली का कहर, 15 लोगों की मौत

थाना प्रभारी अभय कुमार ने बताया कि पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है. इधर, राजद के नेता तेजस्वी यादव ने ट्वीट इस हत्या के मामले में कार्रवाई की मांग करते हुए नीतीश सरकार पर निशाना साधा है.

राजद के नेता तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर लिखा, “मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी, प्रतिदिन 5 घंटे चुनावी तैयारियों के मध्य यदि कुछ समय मिले तो कृपया सूबे की विधि-व्यवस्था पर भी गौर फरमाएं. आपका विधायक इस मामले में सम्मिलित है. कल रात गोपालगंज में हुए निर्मम हत्याकांड में कठोर से कठोर कारवाई अपेक्षित है.”