गोपालगंज: बिहार के गोपालगंज के हथुआ थाना क्षेत्र में रविवार की रात अपराधियों ने आरजेडी नेता ज़ेपी़ चौधरी के घर पर अंधाधुंध गोलीबारी कर दी, जिसमें उनके माता, पिता और भाई की मौत हो गई. पुलिस के एक अधिकारी ने सोमवार को बताया कि रूपनचक गांव में दो बाइक पर सवार अपराधियों ने राजद नेता चौधरी के घर पर गोलीबारी कर दी, जिसमें उनके पिता महेश चौधरी (65 ) और माता संकेशिया देवी (62) की घटनास्थल पर ही मौत हो गई.Also Read - India Post Bihar GDS Result 2021: भारतीय डाक ने बिहार जीडीएस परीक्षा का परिणाम जारी किया, चेक करें

इस हमले में जेपी चौधरी और उनके भाई शांतनु चौधरी गंभीर रूप से घायल हो गए. अस्पताल में इलाज के दौरान शांतनु चौधरी ने भी दम तोड़ दिया. घायल जे.पी. चौधरी का अभी इलाज चल रहा है. Also Read - Bihar Police Fireman 2021 : 2380 पदों के लिये CSBC फायरमैन परीक्षा की तारीख जारी, यहां देखें नोटिस

हथुआ के थाना प्रभारी अभय कुमार ने सोमवार को बताया कि घायल जे.पी. चौधरी के बयान के आधार पर प्राथमिकी दर्ज करने की कार्रवाई की जा रही है. चौधरी ने अपने बयान में कुचायकोट के जनता दल युनाइटेड विधायक अमरेंद्र कुमार पांडेय उर्फ पप्पू पांडेय, विधायक के बड़े भाई सतीश पांडेय व उनके पुत्र मुकेश पांडेय को नामजद आरोपी बनाया है, जबकि एक अज्ञात व्यक्ति पर भी हत्या का आरोप लगाया गया है. Also Read - मध्य प्रदेश: 14 साल की लड़की से ट्रक में गैंगरेप, हत्या कर शव चंबल नदी में फेंका

थाना प्रभारी अभय कुमार ने बताया कि पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है. इधर, राजद के नेता तेजस्वी यादव ने ट्वीट इस हत्या के मामले में कार्रवाई की मांग करते हुए नीतीश सरकार पर निशाना साधा है.

राजद के नेता तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर लिखा, “मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी, प्रतिदिन 5 घंटे चुनावी तैयारियों के मध्य यदि कुछ समय मिले तो कृपया सूबे की विधि-व्यवस्था पर भी गौर फरमाएं. आपका विधायक इस मामले में सम्मिलित है. कल रात गोपालगंज में हुए निर्मम हत्याकांड में कठोर से कठोर कारवाई अपेक्षित है.”