नई दिल्ली: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को कहा कि मुजफ्फरपुर शेल्टर होम कांड के किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा. उन्होंने कहा कि अगर इस मामले में उनके मंत्री की संलिप्तता पाई जाती है तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई होगी. साप्ताहिक जन सभा कार्यक्रम ‘लोक संवाद’ के दौरान पत्रकारों से बातचीत में नीतीश कुमार ने कहा कि मुजफ्फरपुर एनजीओ को सहायता करने का फैसला मंत्री स्तर पर हुआ है तो उन्हें भी जाना होगा लेकिन बिना किसी कारण के मैं किसी के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर सकता. उन्होंने कहा कि समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा अगर मुजफ्फरपुर बालिका आश्रय गृह यौन शोषण कांड में संलिप्त पाई गईं या उनके खिलाफ कुछ भी पाया गया तो उनसे इस्तीफा देने को कहा जा सकता है. मुजफ्फरपुर बालगृह यौन शोषण कांड मामले में वर्मा के पति का नाम सामने आने के बाद से ही उन पर उंगली उठाई जा रही है.

मुजफ्फरपुर के बाद देवरिया: ‘रंग बिरंगे कार में 4 बजे जाती थीं लड़कियां, सुबह रोते हुए आती थीं’

नीतीश कुमार ने कहा कि मुजफ्फपुर मामले में नाम आने के बाद मंत्री ने मुझसे मिलकर सफाई दी है. मैंने जो पूछा उसका मंत्री ने जवाब दिया. किसी को बेवजह कैसे जिम्मेदार ठहराया जाए. मंत्री के स्तर पर कोई निर्णय हुआ होगा तो उसपर भी कार्रवाई करेंगे लेकिन, यह कहना कि मंत्री को हटा दें यह सही नहीं होगा. मामले की जांच सीबीआई कर ही रही है. किसी को बख्शा नहीं जाएगा.

सिर्फ नेगेटिव ही नहीं पॉजिटिव बातों पर भी ध्यान दें- नीतीश कुमार

गौरतलब है कि मुजफ्फरनगर शेल्चर होम में 34 बच्चियों से यौन उत्पीड़न के मामले में गिरफ्तार किए गए एक आरोपी की पत्नी ने आरोप लगाया था कि मंत्री के पति इस मामले में शामिल हैं और वह लगातार शेल्टर होम में जाते रहे हैं. मंत्री ने इन आरोपों पर कहा कि उनकी और उनके पति की छवि को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की जा रही है. इस मामले से मेरे पति का कोई संबंध नहीं है.

मुजफ्फरपुर स्कैंडलः ब्रजेश ठाकुर की ‘राजदार’ जिसने बालिका गृहों को बना दिया ‘कोठा’

दूसरी ओर बिहार के डिप्टी सीएम और बीजेपी के सीनियर नेता सुशील कुमार मोदी ने कहा कि मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड सामने आने के बाद महज कुछ लोगों के बयान देने के कारण सामाजिक कल्याण मंत्री मंजू वर्मा या किसी अन्य मंत्री के इस्तीफे की जरूरत नहीं है. बीजेपी मंजू वर्मा के साथ है. उनके खिलाफा कोई चार्ज नहीं है.

 राजद के धरने में विपक्ष का जमावड़ा, राहुल ने कहा नीतीश तुरंत कार्रवाई करें

मोदी ने शहरी विकास मंत्री और मुजफ्फरपुर के विधायक सुरेश शर्मा का संदर्भ देते हुए कहा, ‘आरोप लगाना अलग चीज है, दोष जांच से साबित होता है. हमारी पार्टी से भी कुछ लोगों ने एक मंत्री के खिलाफ आरोप लगाए हैं.’ मोदी ने कहा, ‘भाजपा के किसी नेता के बयान को पार्टी की आधिकारिक लाइन बताकर यह नहीं कहा जा सकता कि ऐसी मांग की गई है. प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय ने ऐसी कोई मांग नहीं की है. इसलिए कुछ नेताओं की निजी राय को पार्टी की राय समझना गलत होगा.’