भभुआ: बिहार के कैमूर जिले के कुदरा थाना क्षेत्र में मानवता और इंसानी रिश्ते को शर्मसार करने वाली एक घटना प्रकाश में आई है जहां बेटे की चाह में सास-ननद व पति ने ही महिला और उसकी दो बच्चियों को जलाकर मार डाला. इस जघन्य वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी ससुरालीजन फरार हैं. गांव वालों ने घटना की सूचना पुलिस को दी. Also Read - बिहार चुनाव से पहले पुलिस मुख्यालय का अजीबोगरीब फरमान जारी, मचा सियासी बवाल

Also Read - Bihar Crime: गोलियों से दहला पटना, शराब माफिया-पुलिस में मुठभेड़, कई पुलिसकर्मी घायल

बिहार : सासाराम के स्‍टेशन मास्‍टर से मांगी 20 लाख रुपये रंगदारी, नहीं देने पर स्‍टेशन उड़ाने की धमकी Also Read - डकैती से घर में मचा था कोहराम, जैसे ही पुलिस ने कहा-ये तो मामला प्रेम प्रसंग का है, कि बस..

18 वर्ष पहले हुआ था विवाह

पुलिस के अनुसार, सीसवार गांव में बुधवार की देर रात ससुराल वालों ने बेटा पैदा नहीं होने के कारण एक महिला और उसकी दो बच्चियों को जलाकर मार डाला. ग्रामीणों की सूचना के बाद गुरुवार को तड़के पहुंची पुलिस ने तीनों शवों को अपने कब्जे में ले लिया. कुदरा के थाना प्रभारी राजीव रंजन ने गुरुवार को जानकारी देते हुए बताया कि उत्तर प्रदेश के रॉबर्ट्सगंज की रहने वाली पुष्पा देवी का विवाह सिसवार गांव निवासी मनोज सोनी से करीब 18 साल पूर्व हुआ था. इस दौरान पुष्पा ने दो बच्च्यिों को जन्म दिया.

बिहार: डीएमसीएच में चूहे के काटने से हुई नवजात की मौत! जिलाधिकारी ने बिठायी जांच

आरोपी फरार

आरोप है कि पुष्पा के ससुराल वाले बेटा पैदा नहीं होने के कारण उससे नाराज थे और इसको लेकर उसे प्रताड़ित करते रहते थे. आरोप है कि इसी कारण रात को मारने-पीटने के बाद उसको उसकी दोनों बेटियों के साथ जिंदा जला दिया गया, जिससे तीनों की एक साथ जलकर दर्दनाक मौत हो गई. थाना प्रभारी ने बताया कि मृतका के भाई संतोष सोनी के बयान पर गुरुवार को हत्या की एक प्राथमिकी कुदरा थाना में दर्ज कर ली गई है जिसमें मृतका की सास, ननद और पति को नामजद आरोपी बनाया गया है. उन्होंने बताया कि घटना के बाद से सभी आरोपी घर छोड़कर फरार हैं. पुलिस की तफ्तीश व आरोपियों की तलाश जारी है. (इनपुट एजेंसी)