पटना: बिहार को ‘डिजिटल इंडिया अवार्ड’ (Digital India Award) मिलने जा रहा है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ramnath Kovind) 30 दिसंबर को डिजिटल इंडिया अवॉर्ड 2020 सम्मान से बिहार (Bihar) को सम्मानित करेंगे. यह सम्मान कोरोना काल में सरकार द्वारा बिहार के लोगों को समय से राहत पहुंचाने के लिए प्रदान किया जा रहा है. कोविड-19 (Corona Virus) के दौरान नागरिकों को विभिन्न प्रकार की सहायता उपलब्ध कराने के लिए की गई अभिनव पहल को भारत सरकार ने सराहा है. Also Read - कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद आशा कार्यकर्ता की मौत, सहकर्मी बोले- कोविड टीका लगते...

बिहार मुख्यमंत्री सचिवालय, आपदा प्रबंधन विभाग और राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) को कोरोना काल में उनके द्वारा किए गए बेहतरीन कार्यो के लिए महामारी श्रेणी में विजेता चुना गया है. डिजिटल इंडिया अवॉर्ड (Digital India Award) भारत सरकार द्वारा नागरिकों को अनुकरणीय डिजिटल उत्पाद और सेवाओं के लिए दिया जाने वाला एक राष्ट्रीय स्तर का पुरस्कार है. पुरस्कार के लिए केंद्र सरकार एवं राज्य सरकारों के विभिन्न विभागों से 6 श्रेणियों में 190 प्रविष्टियां प्राप्त हुई थीं. Also Read - Amazing: कोरोना वायरस का अजब-गजब मामला, पांच महीने में हुए 31 टेस्ट, हर बार रिपोर्ट पॉजिटिव

मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत, आपदा प्रबंधन विभाग के अपर सचिव रामचंद्र डू और एनआईसी के शैलेश कुमार और नीरज कुमार को डिजिटल इंडिया अवॉर्ड से सम्मानित किया जाएगा. बिहार से बाहर फंसे श्रमिकों को बिहार कोरोना सहायता मोबाइल एप (Mobile App) के माध्यम से 21 लाख से अधिक लोगों को वित्तीय सहायता पहुंचाई गई. इसके अलावा 1.64 करोड़ राशन कॉर्ड रखने वाले परिवारों को तीन महीने का अग्रिम राशन दिया गया और 1000 रुपये की वित्तीय सहायता भी दी गई. इसके अलावा भी कई और कार्य किए गए. Also Read - Parakram Diwas: नेताजी सुभाष चंद्र बोस को पीएम मोदी ने किया नमन, बोले- देश सदा याद रखेगा आपको