नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव के खिलाफ विवादित टिप्पणी करने को लेकर भाजपा ने शनिवार को राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की बड़ी बेटी मीसा भारती को आड़े हाथ लिया और कहा कि वह रामकृपाल से सार्वजनिक तौर पर हाथ जोड़कर माफी मांगें. मीसा ने कथित तौर पर कहा था कि 2014 के लोकसभा चुनावों से पहले जब उन्होंने सुना कि उनके पिता के पूर्व विश्वासपात्र रामकृपाल भाजपा में शामिल होने वाले हैं तो उनका जी किया कि उनके हाथ काट दें.पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा के टिकट पर रामकृपाल ने मीसा को पाटलिपुत्र लोकसभा सीट पर मात दी थी. Also Read - पश्चिम बंगाल में बोले जेपी नड्डा, बहुत जल्द लागू होगा नागरिकता संशोधन कानून

मीसा ने पाटलिपुत्र लोकसभा क्षेत्र में आने वाले बिक्रम विधानसभा क्षेत्र में सैकड़ों राजद समर्थकों की मौजूदगी में यह विवादित बयान दिया. एक वीडियो में मीसा को कहते सुना जा रहा है, ‘‘वह (राम कृपाल यादव) चारा काटा करते थे और मेरे पिता ने राजनीति में पांव जमाने में उनकी मदद की. जब मैंने सुना कि उन्होंने सुशील मोदी (बिहार के उप-मुख्यमंत्री एवं भाजपा नेता) से हाथ मिला लिया तो उस वक्त मुझे ऐसा महसूस हुआ कि उसी गंडासे से उनका हाथ काट दूं, जिससे कभी वो जानवरों के लिए चारा काटा करते थे. Also Read - Bihar Polls 2020: बिहार चुनाव में गठबंधन 4, लेकिन मुख्यमंत्री पद के हैं ये 6 दावेदार

मीसा ने यह कथित टिप्पणी बीते 16 जनवरी को की, लेकिन यह मामला शनिवार को उस वक्त सामने आया जब न्यूज चैनलों ने इसका वीडियो प्रसारित किया. इस मामले में एक बयान जारी कर भाजपा प्रवक्ता निखिल आनंद ने कहा कि मीसा भारती को सार्वजनिक तौर पर हाथ जोड़कर रामकृपाल यादव से माफी मांगनी चाहिए. यदि वह ऐसा नहीं करती हैं तो लोकसभा चुनावों में उन्हें पाटलिपुत्र के लोग करारा जवाब देंगे. ऐसी अटकलें हैं कि राज्यसभा सदस्य मीसा फिर से पाटलिपुत्र लोकसभा सीट से चुनाव लड़ सकती हैं. राजद नेताओं का मानना है कि ‘‘फीकी पड़ती मोदी लहर’’ के कारण मीसा के इस सीट पर चुनाव जीतने की काफी संभावनाएं हैं. Also Read - पीएम नरेंद्र मोदी का बयान- 6 सालों में हुए चौतरफा काम, अब बढ़ा रहे हैं उसकी गति और दायरा