Lockdown in Bihar: बिहार में कोरोना का प्रसार रुकने का नाम नहीं ले रहा है. इसी को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार ने एक बार फिर से पूर राज्य में लॉकडाउन लागू करने का फैसला किया है. बिहार में 16 जुलाई से लेकर 31 जुलाई तक लॉकडाउन रहेगा. Also Read - 55 Hours Weekend lockdown in UP: दो दिन तक रहेगा लॉकडाउन, बाहर जानें से पहले जान लें क्या हैं सप्ताहांत बंद के ये नए नियम

बिहार में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण पिछले 24 घंटे के दौरान नौ और व्यक्ति की मौत हो जाने से इस रोग से अबतक मरने वालों की संख्या 134 पर पहुंच गयी. इसके साथ ही प्रदेश में अबतक संक्रमित हुए लोगों की संख्या सोमवार को बढ़कर 17421 हो गयी है. मंगलवार को बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने कहा, “COVID19 के प्रसार पर अंकुश लगाने के लिए 16 से 31 जुलाई तक राज्य में लॉकडाउन लागू किया जाएगा। दिशा-निर्देश तैयार हो रहे हैं.” Also Read - केरल विमान हादसा: काफी चैलेंजिंग है कोझिकोड एयरपोर्ट का 'टेबलटॉप' रनवे, भारी बारिश के चलते हुआ हादसा!

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘बिहार सरकार ने 16 से 31 जुलाई तक लॉकडाउन का निर्णय लिया है. सभी नगर निकाय, जिला मुख्यालय, अनुमंडल और प्रखंड मुख्यालय 15 दिनों के लिए बंद रहेंगे. इसका दिशानिर्देश तैयार किया जा रहा है.’ Also Read - केरल विमान हादसा: सामने आया घटना के बाद का वीडियो, दो टुकड़ों में बंटा दिख रहा एयर इंडिया का विमान

उन्होंने कहा, ‘कोराना की न कोई दवा है न टीका है. हम सभी को चेहरे पर मास्क, तौलिया या रूमाल लगाना सुनिश्चित करना होगा.’ सुशील ने कहा, ‘बिहार सरकार ने सभी पंचायतों को मास्क व साबुन वितरण के लिये 160 करोड़ रूपये की राशि प्रदान की है. पिछले दिनों अत्यधिक बारिश में आकाशीय बिजली से दुखद मौत हुईं, मृतकों के आश्रितों को सरकार 4-4 लाख रूपये की सहायता प्रदान की. प्राकृतिक आपदा पर हमारा वश नहीं है लेकिन सरकार पीड़ितों के साथ है.’

उन्होंने कहा, ‘बिहार सरकार ने बाढ़ पूर्व सभी तैयारियां कर ली हैं. दवा, अनाज, नाव समेत सभी जरूरी वस्तुओं का संग्रह और राहत और बचाव संबंधी आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये हैं.’ सुशील ने कहा, ‘पिछले वर्ष चमकी बुखार से हुई मौत को चुनौती मानकर मुकम्मल तैयारियां की जिसके परिणामस्वरूप इस वर्ष नगण्य मौत हुई है.’

उन्होंने कहा, ‘हमारी सरकार हर विपदा में गरीबों के साथ मुस्तैदी से खड़ी है, खजाने पर पहला हक गरीबों का है. कोरोना काल में लगातार आठ महीने मुफ्त खाद्यान्न की घोषणा, मुफ्त तीन सिलेंडर, जनधन खाताधारी को 1500 व राशनकार्ड वाले को 1-1 हजार रूपये नकद. एक करोड़ बच्चों को 3 हजार करोड़ छात्रवृति व अग्रिम पेंशन दी गई.’

बता दें कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामले सोमवार को बढ़कर 1116 हो जाने के साथ ही पटना जिले में सबसे अधिक 228, बेगूसराय में 79, भागलपुर में 78, मुजफ्फरपुर में 76, मुंगेर में 68, गया में 65, रोहतास में 51, सिवान में 50, मधुबनी में 41, पश्चिम चंपारण में 39, भोजपुर में 33, समस्तीपुर में 29, कटिहार एवं जमुई में 28-28, नालंदा में 24, गोपालगंज में 22, अरवल में 20, कैमूर में 18, लखीसराय एवं जहानाबाद में 17-17, पूर्वी चंपारण एवं सहरसा 11-11, खगडिया में 09, किशनगंज, पूर्णियां एवं सारण में 08-08, मधेपुरा एवं नवादा में 07-07, वैशाली एवं सीतामढी में 06-06, शेखपुरा में 05, शिवहर में 04, औरंगाबाद, बांका, दरभंगा एवं सुपौल में 03-03 तथा अररिया एवं बक्सर में 01-01 मामले प्रकाश में आए हैं.