नई दिल्ली। आरजेडी प्रमुख और पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव पर सीबीआई के बड़े एक्शन के बाद बिहार के सियासी गलियारे में आज सुबह से ही जबरदस्त हलचल है. दरअसल, सीबीआई ने रेलवे होटल टेंडर केस में लालू के 12 ठिकानों पर छापेमारी की है जिनमें दिल्ली, पटना, रांची, भुवनेश्वर और गुड़गांव शामिल हैं. लालू के छोटे बेटे और बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के आवास पर भी छापेमारी की गई है. यह छापेमारी 2006 में बतौर रेल मंत्री रहते हुए रांची और पुरी के होटलों के रखरखाव का ठेका (टेंडर) देने में कथित अनियमितता के नए मामले को लेकर की गई.Also Read - Lalu Prasad Yadav Admitted to AIIMS: लालू यादव एम्स के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती, डॉक्टर्स ने बताया हाल

सीबीआई के एडिशनल डायरेक्टर राकेश अस्थाना ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि लालू प्रसाद समेत आठ लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी और साजिश का केस है. पुरी और रांची के होटलों के आवंटन में गड़बड़ी है. उन्होंने बताया कि छापेमारी की कार्रवाई सुबह 7.30 बजे शुरू हुई जो अभी भी जारी है. अस्थाना ने कहा कि मामले में सीबीआई ने एफआईआर दर्ज किया है. Also Read - किशनगंज बहुत गरीब, पटना सबसे अमीर, Bihar के इन 11 जिलों की हालत खस्ता, Niti Aayog की रिपोर्ट

Also Read - पश्चिम बंगाल के स्कूलों में 'ग्रुप डी' कर्मियों की भर्ती की CBI जांच के आदेश पर कलकत्ता हाईकोर्ट की रोक

सीबीआई के तरफ से दर्ज किए गए केस में लालू प्रसाद यादव, राबड़ी देवी, तेजस्वी यादव, सरला गुप्ता, विजय कोचर (होटल चाणक्य का डायरेक्टर), विनय कोचर (होटल चाणक्य का डायरेक्टर), पीके गोयल (आईआरसीटीसी के पूर्व एमडी), मैसर्स लारा प्रोजेक्ट एलएलपी (दिल्ली की कंपनी) और अज्ञात लोगों के खिलाफ नाम शामिल किया गया है. इन सब के खिलाफ आईपीसी की धारा 420 (धोखाधड़ी), 120बी (आपराधिक साजिश), 13, 13 (1) (डी) पीसी एक्ट का मामला दर्ज किया गया है. लालू पर बड़ा ऐक्शनः 12 ठिकानों पर सीबीआई की रेड, पत्नी-बेटे के खिलाफ केस दर्ज

उधर, लालू आज पटना में मौजूद नहीं हैं, वे इस वक्त रांची में है, वो वहां चारा घोटाले के मामले में कोर्ट में पेश होने के लिए गए हैं. उन्होंने कोर्ट जाने से पहले कहा कि वो कोर्ट से लौटकर इस मामले में कुछ कहेंगे. आरजेडी बिहार के प्रमुख रामचंद्र पूर्वे ने सीबीआई की कार्रवाई को षडयंत्र और बदले की राजनीति बताया. उन्होंने कहा कि बिहार में हमारा गठबंधन मजबूत है. हमलोग एकजुट हैं.

पटना में भी राबड़ी आवास के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई है. भारी पुलिस बल को तैनात किया गया है. राबड़ी आवास जाने के तमाम रास्तों पर पुलिस ने पैनी नजर बनाई हुई है. सभी आने जाने वालों पर कड़ी नजर रखी जा रही है. किसी भी तरह की घटना से पुलिस बल को तुरंत निपटने का आदेश दिया गया है. राबड़ी आवास के बाहर पुलिस अधिकारियों का जमावड़ा लगा है. पटना Breaking News LIVE: छापे के बाद सीबीआई का बयान – होटल के आबंटन में की गई गड़बड़ी, लालू, राबड़ी और तेजस्वी पर मामला दर्ज

सीबीआई की कार्रवाई के बाद आरजेडी विरोध की रणनीति अपना रही है. वहीं, जेडीयू के तरफ से कोई कुछ नहीं बोल रहा. बिहार के सीएम नीतीश पटना में मौजूद नहीं हैं. वे इस वक्त राजगीर में हैं. उन्होंने राजगीर में ही राज्य के वरिष्ठ आधिकारियों की मीटिंग बुलाई है. डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव पर केस दर्ज होने के बाद नीतीश पर दबाव बढ़ा है.

उधर, लालू परिवार पर हुए सीबीआई एक्शन पर बीजेपी नेताओं ने भी प्रतिक्रिया जाहिर की है. बिहार बीजेपी के नेता और पूर्व डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने कहा कि नीतीश कुमार अपने कैबिनेट में ऐसे लोगों को डिप्टी सीएम बनाए हुए हैं जिनके ऊपर भ्रष्टाचार को लेकर स्पष्ट प्रमाण हैं. नीतीश को चुप्पी तोड़नी चाहिए और डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव को बर्खास्त करना चाहिए. बीजेपी नेता और सांसद गिरिराज सिंह ने कहा कि नीतीश अपनी छवि के बारे में सोचें. नीतीश अगर ऐसे लोगों के साथ सरकार चलाते रहे तो फिर भ्रष्टाचार के मुद्दे का क्या होगा.

वहीं दूसरी तरफ, लालू प्रसाद के ठिकानों पर सीबीआई रेड की खबर के बाद पूरे बिहार में अलर्ट जारी कर दिया गया है. पुलिस मुख्यालय पटना ने सभी जिलों के एसपी को तैयार रहने का निर्देश दिया है. दरअसल ये आशंका जताई जा रही है कि सीबीआई के इस एक्शन के बाद राजद कार्यकर्ताओं में आक्रोश बढ़ सकता है. लालू प्रसाद से समर्थक सड़कों पर उतर सकते हैं.