नई दिल्ली: बिहार के साथ ही देश के कई हिस्सों में छठ पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है. राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव के घर की छठ बहुत फेमस है. हर साल लालू के घर में होने वाली छठ पूरी मीडिया का ध्यान अपनी ओर खींचती है लेकिन इस बार लालू के घर में छठ पर सन्नाटा पसरा हुआ है जबकि दूसरी ओर 150 मीटर की दूरी पर बिहार के मुख्यमंत्री और जेडीयू नेता नीतीश कुमार के घर छठ की रौनक देखने को मिल रही है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को ट्वीट किया, लोक आस्था के महापर्व छठ के अवसर पर 7, सर्कुलर रोड स्थित आवास पर प्रसाद ग्रहण करने आए अतिथियों से मुलाकात करते हुए. Also Read - चिराग पासवान ने साधा नीतीश कुमार पर निशाना, बोले- कहीं लालू की शरण में न चले जाएं

बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री और लालू प्रसाद यादव की पत्नी राबड़ी देवी पहले ही एलान कर चुकी हैं कि इस साल वह छठ पूजा नहीं करेंगी. दरअसल उनके बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने उन्हें ऐसा ‘गम’ दिया है कि इससे दुखी होकर उन्होंने महापर्व से दूर रहने का फैसला किया है. राबड़ी देवी अपने बेटे तेजप्रताप के पत्नी ऐश्वर्या को तलाक देने के फैसले से दुखी हैं. तेजप्रताप ने चेतावनी दी है कि वह तब तक घर नहीं लौटेंगे जब तक उनके माता-पिता उनके फैसले का समर्थन नहीं करेंगे. राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के विधायक भोला यादव ने शनिवार को यहां कहा, “राबड़ी देवी इस साल छठ नहीं मनाएंगी, क्योंकि तेजप्रताप के पिछले एक सप्ताह से पटना से गायब रहने से परिवार चिंतित है. भोला यादव राजद प्रमुख लालू यादव परिवार के करीबी माने जाते हैं. Also Read - Bihar Assembly Election 2020: लालू ने कार्टून ट्वीट कर नीतीश पर साधा निशाना

lalu Also Read - लालू जिंदाबाद सुनकर भड़के सीएम नीतीश, तेजप्रताप-ऐश्वर्या के रिश्ते पर कही ये बड़ी बात

राबड़ी देवी के इस फैसले के बाद लोगों को बिहार के सबसे प्रसिद्ध लोकपर्व का उत्सव इस बार पटना के 10 सर्कुलर रोड स्थित विशाल बंगले में देखने को नहीं मिल रहा है. पिछले साल राबड़ी देवी ने कहा था कि वह अपने दोनों बेटों तेजप्रताप और तेजस्वी की शादी के बाद ही छठ मनाएंगी.

दूसरी ओर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सात सर्कुलर रोड स्थित आवास पर छठ के मौके पर सोमवार को खरना का प्रसाद खाने के लिए राज्य सरकार के कई मंत्रियों सहित बड़ी संख्या में नेता और कार्यकर्ता पहुंचे. सभी को प्रसाद मिला कि नहीं सीएम खुद इस चीज की निगरानी कर रहे थे. साथ ही लोगों से प्रसाद ग्रहण करने का आग्रह भी कर रहे थे. सीएम की भाभी ने भी छठ का व्रत किया है. प्रसाद ग्रहण करने सीएम आवास पहुंचने वालों में राज्य सरकार के मंत्री राजीव रंजन सिंह, कृष्णानंद प्रसाद वर्मा, नंदकिशोर यादव और मंगल पांडेय और अन्य नेता थे.

nitish
भले ही इस साल लालू के घर में छठ नहीं मनाई जा रही हो लेकिन पिछले साल तक साल तक पटना के लालू प्रसाद यादव के आवास पर नौकरशाहों और नेता छठ का प्रसाद को ग्रहण करने पहुंचते ही थे. सियासत और परीस्थितियां बदलने के साथ ही इस साल लालू के आवास पर कोई खास चहल-पहल नहीं दिख रही. हालांकि लालू यादव के छोटे बेटे और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर लोगों को छठ की बधाई दी है. उन्होंने ट्वीट किया, समस्त देशवासियों को लोक आस्था के महापर्व छठ पूजा की हार्दिक शुभकामनाएं. छठी मैया आपकी हर मनोकामना पूरी करें.