Bihar Assembly Election 2020: बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान कल यानि 28 अक्टूबर को होने जा रहा है. उससे पहले चुनावी जंग में आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला चरम पर पहुंच गया है. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बीते दिन अपनी एक चुनावी सभा में लालू यादव के परिवार पर तीखा हमला बोला. नीतीश ने कहा कि बेटे की चाह में 9 बच्चे पैदा किए. तेजस्वी ने नीतीश कुमार के आरोपों का जवाब दिया है.Also Read - Bihar Police Fireman 2021 : 2380 पदों के लिये CSBC फायरमैन परीक्षा की तारीख जारी, यहां देखें नोटिस

तेजस्वी यादव ने मंगलवार को अपने दिए बयान में नीतीश कुमार को जवाब देते हुए कहा कि नीतीश जी दरअसल हमारे बहाने सीधे पीएम मोदी पर ही निशाना बना रहे हैं. पीएम जी भी 6-7 भाई बहन हैं. तेजस्वी यादव ने कहा कि हमने पहले भी कहा है कि नीतीश जी थक चुके हैं वो हमें कितना भी गाली दें लेकिन वो बेरोज़गारी, गरीबी पर बात नहीं करना चाहतें. अगर ऐसी बोली वो बोलते हैं तो वो महिलाओं की मर्यादा को ठेस पहुंचा रहें हैं. Also Read - बिहार: सरकारी मेडिकल कॉलेजों में 50 और प्राइवेट में 300 सीटें बढ़ीं, कब से होगा लागू, जानें

Also Read - Bihar: बिहार में फेल हुए चौथी से 8वीं तक के 30 फीसदी छात्र, वजह जानें

तेजस्वी ने ट्वीट कर कहा था-वो मानसिक रूप से थक चुके हैं

इससे पहले तेजस्वी ने ट्वीट किया था कि नीतीश जी मेरे बारे में कुछ भी अपशब्द कहे वो मेरे लिए आशीर्वचन है. नीतीश जी शारीरिक-मानसिक रूप से थक चुके है इसलिए वो जो मन करे, कुछ भी बोले, मैं उनकी हर बात को आशीर्वाद के रूप में ले रहा हूं. इस बार बिहार ने ठान लिया है कि रोटी-रोजगार और विकास के मुद्दों पर ही चुनाव होगा.

नीतीश कुमार ने की थी तीखी टिप्पणी

बता दें कि नीतीश कुमार ने एक जनसभा में राजद पर हमला करते हुए लालू यादव पर पर्सनल अटैक किया. नीतीश ने कहा कि 8-8, 9-9 बच्चे पैदा करने वाले बिहार का विकास करने चले हैं. बेटे की चाह में कई बेटियां हो गईं. मतलब बेटियों पर भरोसा नहीं है. ऐसे लोग क्या बिहार का भला करेंगे.

उन्होंने कहा था कि अगर यही लोगों के आदर्श हैं तो समझ लीजिए बिहार का क्या बुरा हाल होगा, कोई पूछने वाला नहीं रहेगा, सबका सब बर्बाद हो जाएगा. हम सेवा करते हैं और वे मेवा और माल चाहते हैं. इन्हीं कर्मों की वजह से अंदर जाते हैं.