Bihar News: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन के बयान का जवाब देते हुए कहा कि हम आप अलग हो गए तो क्या, अभी भी हम आपसे प्यार करते हैं. बिहार झारखंड तो दो भाई हैं, अलग कैसे हो सकते हैं, हम तो अभी भी उन्हें अपना मानते हैं. सीएम नीतीश ने सोरेन के मगही और भोजपुरी वाले बयान का जवाब दिया है.Also Read - VIDEO: बिहार वापसी से पहले पूरी रौ में दिखे लालू, कहा-क्या होता है कांग्रेस, क्या होता है गठबंधन?

नीतीश ने कहा-अलग हुए तो क्या, हम उनसे बहुत प्यार करते हैं Also Read - बिहार के पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने कहा, मोदीजी, 15 दिन के लिए जम्मू-कश्मीर बिहारियों को सौंप दीजिए, फिर देखिए

पटना में जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए बिहार के सीएम नीतीश कुमार झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन की भोजपुरी और मगही पर टिप्पणी पर कहा कि झारखंड और बिहार भाई-भाई हैं. साल 2000 में बिहार दो हिस्सों में बंट गया था. बिहार और झारखंड के लोग एक-दूसरे से प्यार करते हैं. मुझे नहीं पता कि लोग राजनीतिक रूप से क्या कहते हैं. झारखंड अलग होने के बावजूद हमें उनसे प्यार है. Also Read - Aryan Khan Drugs Case का बिहार कनेक्शन, मोतिहारी जेल में मुंबई पुलिस-NCB को मिला सुराग, जानिए

सीएम नीतीश ने कहा कि इन बातों पर कभी विचार नहीं करना चाहिए. बिहार और झारखंड भाई हैं, एक ही परिवार के दो हिस्से हैं. बिहार और झारखंड को एक दूसरे के बारे में टिप्पणी करने की जरूरत नहीं है. उन्हें सिर्फ एक-दूसरे से प्यार है.

जानिए क्या कह दिया था झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने…

बता दें कि झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने एक मीडिया संस्थान को दिए इंटरव्यू में कहा था कि आदिवासी समाज ने झारखंड के एक अलग राज्य के लिए जो लड़ाई लड़ी, वह अपनी क्षेत्रीय और आदिवासी भाषाओं के कारण लड़ी, न कि भोजपुरी और हिंदी के कारण. वे किसी भी हाल में झारखंड के ‘बिहारीकरण’ की अनुमति नहीं देंगे. जो मगही या भोजपुरी बोलते हैं, वे प्रभुत्वशाली व्यक्ति हैं, ऐसा नहीं होगा.

इसपर, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि अगर बिहार की भाषा के प्रति तल्ख टिप्पणी कर झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को कोई राजनीतिक फायदा उठाना चाहते है तो वह उठाते रहें, हम ऐसा नहीं मानते. बता दें कि झारखंड के सीएम ने बिहार की भाषा-मगही और भोजपुरी पर तीखी टिप्पणी के बाद से बड़ा विवाद खड़ा हो गया है.