Corona Virus in Bihar: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने संक्रमण की बढ़ती संख्या को देखते हुये कुछ सरकारी भवनों के साथ साथ निजी व्यवसायिक भवनों एवं होटलों में भी पृथक-वास केन्द्र बनाये जाने के बुधवार को निर्देश दिए . इसमें ऐसे सरकारी भवनों को पृथक-वास केन्द्र बनाने का निर्देश दिया गया है जो कार्यरत नहीं हैं. Also Read - बिहार विधान परिषद के सभापति कोरोना संक्रमित, नीतीश कुमार और सुशील मोदी का भी लिया गया नमूना

कोविड-19 की अद्यतन स्थिति के संबंध में स्वास्थ्य विभाग के साथ उच्चस्तरीय बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे सरकारी भवन जो कार्यरत नहीं हैं वहां पृथक-वास केंद्र बनाये जा सकते हैं. इसके अलावा निजी व्यवसायिक भवनों एवं होटलों में भी ऐसे केन्द्र बनाये जा सकते हैं. Also Read - कोविड-19 की दवा विकसित करने के लिए 'ड्रग डिस्कवरी हैकाथन' शुरू, देश में पहली बार हो रही ऐसी पहल

नीतीश ने कहा कि संक्रमण की बढ़ती संख्या को देखते हुये आवश्यक दवाओं, उपकरणों आदि की पर्याप्त संख्या में उपलब्धता के लिये अग्रिम तैयारी रखें. उन्होंने कहा कि निजी क्षेत्र सेक्टर में भी कोरोना संक्रमण की जांच की सुविधा उपलब्ध कराने हेतु समुचित कार्रवाई करना चाहिये. Also Read - राजस्थान में कोरोना: 421 मौतें, संक्रमितों की संख्या 18 हज़ार पार, जानें अपने इलाके का हाल

उन्होंने कहा कि भविष्य की चुनौतियों को देखते हुये राज्य के स्वास्थ्य आधारभूत ढांचे को और मजबूत किया जाय तथा इसका विस्तार भी किया जाय. भविष्य में कोरोना संक्रमण बढ़ने की आशंका को देखते हुये सभी तैयारियां पूर्व में ही कर लें. उन्होंने कहा कि अगर सभी तैयारियां पहले से रहेंगी तो हम कोरोना संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में सफल होंगे. मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया बाहर से आ रहे लोगों की अधिक से अधिक संख्या में जांच करायी जाये.