Corona Virus in Bihar: बिहार में एक ओर जहां प्रवासी मजदूरों के अपने राज्य में लौटने का सिलसिला जारी है, तो दूसरी ओर कोरोना संक्रमितों की संख्या भी तेजी से बढ़ने लगी है. राज्य के स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों पर गौर करें तो राज्य में बाहर से लौटने वाले प्रवासी मजदूरों में से 322 लोगों के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. बुधवार तक के आंकड़े के मुताबिक, इनमें 3 मई के बाद बाहरी राज्यों से आने वाले कोरोनावायरस मरीजों की संख्या 270 है. बाहर से आने वाले एक दिन में सबसे ज्यादा 78 लोग पॉजिटिव पाए गए. Also Read - लंबे ब्रेक से मेरा शरीर अकड़कर जॉम्‍बी मोड में चला गया है: दिनेश कार्तिक

स्वास्थ्य विभाग के सचिव लोकेश कुमार सिंह ने कहा, “कोविड-19 की जांच पहले से कराई जा रही है, लेकिन 3 मई के बाद बाहर से आए लोगों का रैंडम सैंपलिंग कराई गई है और उनकी जांच से पता चला है कि अब तक राज्य में बाहर से आए संक्रमितों की संख्या 332 है. इनमें 3 मई के बाद आए संक्रमित लोगों की संख्या 277 है.” उन्होंने आगे कहा, “इनमें दिल्ली से 78, गुजरात से 71, महाराष्ट्र से 57, पश्चिम बंगाल से 20 और हरियाणा से आए 13 लोग हैं. दिल्ली से आए 16 प्रतिशत लोग पॉजिटिव पाए गए हैं.” Also Read - केजरीवाल सरकार की अस्पतालों को सख्त निर्देश- तीन महीने के लिए पर्याप्त पीपीई किट, ऑक्सीजन मास्क खरीदें

उन्होंने स्पष्ट कहा कि बाहर से आए लोगों की जांच में कोरोना पॉजिटिव के मामले के बढ़े हैं. सिंह ने बताया कि बुधवार तक कुल 39149 सैंपल की जांच की गई है, जिसमें 2़3 प्रतिशत कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. पहले जितने सैंपल की जांच की जाती थी, उसके विरुद्ध 1़ 7 से 1़ 8 प्रतिशत संक्रमित पाए जाते थे, लेकिन अब यह आंकड़ा 6़ 12 प्रतिशत तक पहुंच गया है. उन्होंने बताया कि पहले भी टेस्टिंग उतनी ही होती थी, लेकिन अब जांच में संक्रमण के अधिक मामले आ रहे हैं. उन्होंने कहा कि ब्लॉक क्वारंटीन सेंटर पर रैंडमली टेस्टिंग कराई जा रही है, जिसमें संक्रमितों की संख्या में वृद्धि हुई है. Also Read - Coronavirus JharKhand Update: झारखंड में सामने आए 106 नए मामले, हजार के पार हुई संक्रमितों की संख्या