पटना: दुनिया में कहर बरपा चुके कोरोना वायरस के रविवार को बिहार में दस्तक के साथ ही बिहार के शहरी इलाकों को 31 मार्च तक लॉकडाउन कर दिया गया. इस दौरान हालांकि आवश्यक सेवाओं को बंद से मुक्त रखा गया है. इधर, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लोगों से इसमें सहयोग करने की अपील करते हुए कहा कि कोरोना वायरस से मानव जाति संकट में है. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार की शाम राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ उच्चस्तरीय बैठक की और उसके बाद जिला मुख्यालय, अनुमंडल मुख्यालय और प्रखंड मुख्यालय को लॉकडाउन करने की घोषणा कर दी गई. राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों को इससे अलग रखा गया है. Also Read - Covid-19: कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़कर 75 हुई, सरकार ने कहा घबराने की जरूरत नहीं

स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आदेश में कहा गया है, “सभी जिला, अनुमंडल, प्रखंड मुख्यालयों और सभी नगर निकायों पर यह आदेश लागू रहेगा.” आवश्यक सामग्रियों की दुकनों, बैंक, पोस्टऑफिस सहित अन्य अनिवार्य सेवाओं को इस बंद से मुक्त रखा गया है. इस आदेश के तहत सभी सभी निजी प्रतिष्ठानों, निजी कार्यालयों एवं सार्वजनिक परिवहन को पूर्णत: बंद करने का निर्देश दिया गया है. फिहलाल यह आदेश 31 मार्च तक लागू रहेगा, उसके बाद आगे का फैसला लिया जाएगा. Also Read - COVID-19: गाजियाबाद में कोरोना के 10 नए मामले, जिले में संक्रमित लोगों की संख्या 23 हुई

बैठक के बाद बिहारवासियों के नाम संदेश जारी करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, “कोरोना वायरस से पूरी मानव जाति संकट में है. हम सब इस महामारी का डट कर मुकाबला कर रहे हैं. आवश्यक सावधनियां भी बरती जा रही हैं, लेकिन इस बीमारी की गंभीरता को देखते हुये प्रत्येक व्यक्ति का सचेत रहना आवश्यक है. इसका सबसे अच्छा उपाय ‘सोशल डिस्टेंसिंग’ है.” Also Read - लॉकडाउन: दिल्ली में बिना राशन कार्ड वालों को भी मिलेगा 5 किलो राशन, केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला

नीतीश ने कहा कि लॉक डाउन में आवश्यक व अनिवार्य सेवाओं से संबंधित प्रतिष्ठानों-चिकित्सा सेवाओं, खाद्यान्न व किराने के प्रतिष्ठान, दवा की दुकानों, डेयरी- डेयरी से संबंधित प्रतिष्ठान, पेट्रोल पंप और सीएनजी स्टेशन, बैंकिंग, एटीएम, पोस्ट आफिस के अलावा प्रिंट व इलेक्ट्रनिक मीडिया आदि सेवाओं और इन सेवाओं के लिए उपयोग किए जा रहे वाहनों को इस आदेश की परिधि से बाहर रखा गया है.

नीतीश कुमार ने बिहार के तमाम लोगों से अपील की कि कोरोना संक्रमण के खिलाफ राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही इस मुहिम में वे अपना पूरा सहयोग दें.

उन्होंने कहा, “जब भी संकट का समय आया है तब हमने सभी लोगों के सहयोग से उस पर विजय पाई है. संकट की इस घड़ी में सरकार सभी लोगों के साथ है. मुझे पूरा विश्वास है कि हम सब साथ मिलकर इस चुनौती का सफलतापूर्वक सामना करने में सक्षम होंगे.”

उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा, “आप सब लोग अपने घर के अंदर रहें, इधर-उधर अनावश्यक आने-जाने की जरूरत नहीं है. इन सब चीजों से संबंधित सारे मामलों की जानकारी दी जा रही है.”

उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस से संक्रमित एक व्यक्ति की पटना में मौत हो गई है जबकि एक व्यक्ति को संक्रमित पाया गया है. 500 से अधिक संदिग्ध कोरोना वायरस मरीजों को आइसोलेशन के लिए रखा गया है.

(इनपुट आईएएनएस)