पटना: बिहार की राजधानी पटना के रूपसपुर क्षेत्र में गुरुवार की रात पुलिस और अपराधियों के बीच हुई मुठभेड़ में पुलिस ने 50 हजार रुपये के एक इनामी अपराधी मुचकुंद शर्मा (25) को मार गिराया. मुचकुंद पर पटना और भोजपुर जिले के विभिन्न थानों में 50 से अधिक मामले दर्ज थे. पुलिस के एक अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि दानापुर के रुपसपुर में दीघा-दानापुर पुल के समीप पुलिस और विशेष कार्य बल (एसटीएफ) संयुक्त रूप से अपराधियों के खिलाफ अभियान चला रही थी.Also Read - Bihar Police Constable Admit Card 2021 Released: CSBC ने जारी किया Bihar Police कांस्टेबल का एडमिट कार्ड, इस Direct Link से करें डाउनलोड

Also Read - Bihar Driver PET Exam 2021: इस दिन होगी बिहार पुलिस ड्राइवर भर्ती परीक्षा, यहां पाएं पूरी जानकारी

बिहार: महागठबंधन में ‘बड़ा भाई’ कौन, राजद-कांग्रेस के अपने-अपने दावे Also Read - Jammu Kashmir: आतंकियों के खिलाफ अंतिम वार की तैयारी! पुंछ में सेना की लोगों को सलाह- घर में रहें क्योंकि...

इसी क्रम में पुलिस को देख अपराधियों ने गोलीबारी शुरू कर दी. पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई की. इस मुठभेड़ में एक अपराधी मारा गया, जिसकी पहचान आतंक का पर्याय बन चुके नौबतपुर निवासी मुचकुंद शर्मा के रूप में की गई है. पटना के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मनु महाराज ने बताया कि रुपसपुर थाना के नहर रोड में एसटीएफ ने वीरता का परिचय देते हुए एक कुख्यात अपराधी को मार गिराया है, जिसकी पहचान कुख्यात मुचकुंद शर्मा के रूप में की गई है.

इंग्लैंड में कर रहीं थीं जॉब, चुनाव लड़ने लौटीं भारत, दोनों बहनों को 4 सीटों पर मिले सिर्फ 1 हजार वोट

उन्होंने कहा कि इस अभियान में एसटीएफ की टीम को पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) अमन कुमार और पुलिस निरीक्षक अर्जुन लाल नेतृत्व कर रहे थे. उन्होंने बताया कि इस मुठभेड में कुछ अपराधियों के फरार होने की खबर है, जिसे पकड़ने के लिए छापेमारी शुरू कर दी गई है. उन्होंने कहा कि घटनास्थल से हथियार भी बरामद किए गए हैं. उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों पटना में एक कांस्टेबल मुकेश की हत्या में मुचकुंद शर्मा के गिरोह का ही हाथ होने का आरोप है.

यूपी पुलिस की नई जुगाड़: एनकाउंटर के बीच नहीं चली पिस्टल, ‘ठांय-ठांय’ चिल्लाकर पकड़ लिया बदमाश