Bihar Assembly Election 2020 : भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर उन्होंने खुलासा कर दिया तो कांग्रेस को चेहरा दिखाना मुश्किल हो जाएगा. बिहार चुनाव के मद्देनजर रक्षा मंत्री पटना में एक रैली को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा, “कांग्रेस के द्वारा हमारे सेना के जवानों के शौर्य और पराक्रम पर सवालिया निशान लगाया जा रहा है. कहा जा रहा है कि चीन ने 1200 वर्ग किमी जमीन कब्जा कर ली है. यदि मैं खुलासा कर दूंगा, तो चेहरा दिखाना मुश्किल हो जाएगा. सेना ने जिस पराक्रम का परिचय दिया है उस पर हमें गर्व होना चाहिए.” Also Read - Hyderabad Nikay Chunav 2020: रुझानों में भाजपा को स्पष्ट बहुमत, ओवैसी और टीआरएस धराशायी

उन्होंने कहा, “पुलवामा की घटना के बाद ये लोग तरह तरह की बातें कर रहे थे. अब पाकिस्तान की असेंबली में खड़े होकर वहाँ का मंत्री कह रहा है कि पुलवामा की घटना वहाँ की सरकार की शह पर हुई है. मैं राहुल गांधीजी से पूछना चाहता हूँ कि वे अब क्यों नहीं बोलते? वे चुप क्यों है? Also Read - Indian Navy Day 2020: स्थापना नहीं, पाकिस्तानी की तबाही की याद में मनाया जाता है नौसेना दिवस, जानिए पीएम मोदी ने क्या कहा

उन्होंने कहा, “मैं तब गृह मंत्री था जब पुलवामा हमले में हमारे 40 जवानों की जान चली गई थी, उन्होंने (कांग्रेस) इसे चुनावों से पहले सहानुभूति पाने के लिए प्रधानमंत्री द्वारा रची गई साजिश बताया. हम ऐसी घृणित राजनीति करने के बजाय घर बैठेंगे.” Also Read - UP Vidhan Parishad Election: यूपी विधान परिषद की 11 सीटों के लिए हुए चुनाव में 55.47% मतदान


इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को कांग्रेस पर निशाना साधते हुए प्रश्न किया कि पुलवामा हमले में पाकिस्तान का हाथ होने की पड़ोसी देश के मंत्री की स्वीकारोक्ति के बाद कांग्रेस मौन क्यों है और उसके नेताओं की बोलती क्यों बंद है? पीरपैंती के प्रगति मैदान में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा, ‘‘पुलवामा हमले पर पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में एक मंत्री ने बयान देकर वास्तविकता को उजागर कर दिया है. पाकिस्तान ने यह स्वीकार कर लिया है कि पुलवामा में हमला उसने ही कराया था. जबकि पूर्व में वह कहा करता था कि पुलवामा हमले में उसका हाथ नहीं था.’’ उन्होंने कहा कि पुलवामा में जब आतंकवादियों ने हमला किया था और हमारे जवान शहीद हुए थे तब कांग्रेस के लोग हमारी नियत पर सवाल उठा रहे थे.

रक्षा मंत्री ने कहा, ‘‘अब जब पाकिस्तान के मंत्री ने नेशनल असेंबली में बयान देकर यह स्पष्ट कर दिया है कि पुलवामा हमला में पाकिस्तान का हाथ रहा था तो अब कांग्रेस के लोगों की बोलती बंद है तथा (वे) मौन क्यों हैं?’’ उन्होंने कहा कि देश के विरोधी दल के लोग परोक्ष रूप से पाकिस्तान को ताकत देने का काम कर रहे थे किंतु वे अब चुप हैं. सिंह ने आरोप लगाया कि जब भी सुरक्षा के सवाल पर हम लोग दमखम के साथ काम करते हैं तो कांग्रेस और अन्य विरोधी दल के लोग सवाल खड़े करते रहते हैं.

गौरतलब है कि पिछले साल फरवरी में जम्मू कश्मीर के पुलवामा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के काफिले पर आतंकी हमला हुआ था जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे. सिंह ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इन्दिरा गांधी ने पाकिस्तान के दो टुकड़े किये थे तो अटल बिहारी वाजपेयी ने उनके क्रियाकलापों की सराहना की थी, लेकिन आज कांग्रेस का एक ही काम रह गया है, सरकार की उपलब्धियों पर संदेह और सवाल खड़े करना.