Bihar Assembly Election 2020 : भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर उन्होंने खुलासा कर दिया तो कांग्रेस को चेहरा दिखाना मुश्किल हो जाएगा. बिहार चुनाव के मद्देनजर रक्षा मंत्री पटना में एक रैली को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा, “कांग्रेस के द्वारा हमारे सेना के जवानों के शौर्य और पराक्रम पर सवालिया निशान लगाया जा रहा है. कहा जा रहा है कि चीन ने 1200 वर्ग किमी जमीन कब्जा कर ली है. यदि मैं खुलासा कर दूंगा, तो चेहरा दिखाना मुश्किल हो जाएगा. सेना ने जिस पराक्रम का परिचय दिया है उस पर हमें गर्व होना चाहिए.”Also Read - उद्धव ठाकरे बोले- शिवसेना ने BJP के साथ रहकर 25 साल बर्बाद कर दिए, ये मैं अब भी मानता हूं

उन्होंने कहा, “पुलवामा की घटना के बाद ये लोग तरह तरह की बातें कर रहे थे. अब पाकिस्तान की असेंबली में खड़े होकर वहाँ का मंत्री कह रहा है कि पुलवामा की घटना वहाँ की सरकार की शह पर हुई है. मैं राहुल गांधीजी से पूछना चाहता हूँ कि वे अब क्यों नहीं बोलते? वे चुप क्यों है? Also Read - UP Election: टिकट के लिए पति-पत्नी, बाप-बेटी तो कहीं भाई-भाई में टकराव, अमेठी राजघराने की दो रानियों में जंग

उन्होंने कहा, “मैं तब गृह मंत्री था जब पुलवामा हमले में हमारे 40 जवानों की जान चली गई थी, उन्होंने (कांग्रेस) इसे चुनावों से पहले सहानुभूति पाने के लिए प्रधानमंत्री द्वारा रची गई साजिश बताया. हम ऐसी घृणित राजनीति करने के बजाय घर बैठेंगे.” Also Read - Uttarakhand Assembly Election 2022: कांग्रेस ने उत्तराखंड के लिए 53 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी की, हरिश रावत का नाम नहीं शामिल


इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को कांग्रेस पर निशाना साधते हुए प्रश्न किया कि पुलवामा हमले में पाकिस्तान का हाथ होने की पड़ोसी देश के मंत्री की स्वीकारोक्ति के बाद कांग्रेस मौन क्यों है और उसके नेताओं की बोलती क्यों बंद है? पीरपैंती के प्रगति मैदान में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा, ‘‘पुलवामा हमले पर पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में एक मंत्री ने बयान देकर वास्तविकता को उजागर कर दिया है. पाकिस्तान ने यह स्वीकार कर लिया है कि पुलवामा में हमला उसने ही कराया था. जबकि पूर्व में वह कहा करता था कि पुलवामा हमले में उसका हाथ नहीं था.’’ उन्होंने कहा कि पुलवामा में जब आतंकवादियों ने हमला किया था और हमारे जवान शहीद हुए थे तब कांग्रेस के लोग हमारी नियत पर सवाल उठा रहे थे.

रक्षा मंत्री ने कहा, ‘‘अब जब पाकिस्तान के मंत्री ने नेशनल असेंबली में बयान देकर यह स्पष्ट कर दिया है कि पुलवामा हमला में पाकिस्तान का हाथ रहा था तो अब कांग्रेस के लोगों की बोलती बंद है तथा (वे) मौन क्यों हैं?’’ उन्होंने कहा कि देश के विरोधी दल के लोग परोक्ष रूप से पाकिस्तान को ताकत देने का काम कर रहे थे किंतु वे अब चुप हैं. सिंह ने आरोप लगाया कि जब भी सुरक्षा के सवाल पर हम लोग दमखम के साथ काम करते हैं तो कांग्रेस और अन्य विरोधी दल के लोग सवाल खड़े करते रहते हैं.

गौरतलब है कि पिछले साल फरवरी में जम्मू कश्मीर के पुलवामा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के काफिले पर आतंकी हमला हुआ था जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे. सिंह ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इन्दिरा गांधी ने पाकिस्तान के दो टुकड़े किये थे तो अटल बिहारी वाजपेयी ने उनके क्रियाकलापों की सराहना की थी, लेकिन आज कांग्रेस का एक ही काम रह गया है, सरकार की उपलब्धियों पर संदेह और सवाल खड़े करना.