Bihar Assembly Election 2020: विधानसभा चुनाव से पहले बिहार में राजनीतिक उठापटक जारी है. एक तरफ महागठबंधन में फिर से टूट की खबर है तो वहीं एनडीए में भी सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है. सीटों को लेकर दोनों तरफ ही गठबंधन के घटक दलों में मतभेद दिख रहा है. पहले से ही जदयू से नाराज लोजपा से अब भाजपा से भी तल्ख रूख अख्तियार कर लिया है.Also Read - Bihar Mayor Murder News: रात में कटिहार के महापौर की हमलावरों ने गोली मारी, अस्‍पताल पहुंचते ही हुई मौत

बता दें कि  BJP ने भी लोजपा चिराग पासवान को अल्टीमेटम दे दिया है. सूत्रों से जो जानकारी मिल रही है उसके मुताबिक चिराग पासवान इस चुनाव में NDA से अलग राह बनाने के लिए लगभग अब तैयार हो चुके हैं और अंतिम फैसला उनको ही लेना है. दरअसल, लोजपा को बीजेपी इस चुनाव में 25 सीट से ज्यादा देने के मूड में नहीं है. Also Read - Bihar News: प्रेमिका के घरवालों ने प्रेमी की पीट-पीटकर कर दी हत्या, हफ्ते भर के भीतर दूसरी ऐसी घटना

लोजपा और बीजेपी के बीच सीटों को लेकर तल्खी देखी जा रही है.क्योंकि पहले ही बीजेपी ने लोजपा को 20 से 22 सीटें ऑफर की थीं, लेकिन अब 25 सीट तक देने को तैयार है. दूसरी तरफ चिराग पासवान यह चाहते हैं कि सीटों का बंटवारा तार्किक आधार पर हो और लोजपा के पाले में इस बार कम से कम 30 सीटें आएं. एक तरफ सीटों की संख्या तो दूसरी तरफ मनपसंद सीटें, इसे लेकर विवाद बढ़ गया है. Also Read - Bihar Assembly Session: बिहार विधानसभा में जोरदार हंगामा, सदन में RJD विधायक ने कहा 'बेईमान'

सूत्रों के मुताबिक, एनडीए के घटक दलों में मनमाफिक समझौता नहीं होने की सूरत में लोजपा 143 सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए तैयार है, जिसके संकेत लोजपा प्रमुख चिराग पासवान पहले ही दे चुके हैं.

कहा जा रहा है कि चिराग पासवान इस बार खुद जमुई या सीतामढ़ी से विधानसभा का चुनाव लड़ सकते हैं. पार्टी के नेताओं ने चिराग के सामने अकेले चुनाव लड़ने की मांग पहले ही रख दी है. ऐसे में इस मसले पर चिराग पासवान को ही अंतिम फैसला लेना है.

मिल रही जानकारी के मुताबिक लोजपा के एनडीए से बाहर जाने पर पार्टी में मंथन चल रहा है और बहुत जल्दी तस्वीरें साफ हो जाएंगी. मालूम हो कि बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर एनडीए में सीटों के बंटवारे को लेकर कोई मसौदा अभी तक सामने नहीं आया है.