पटना: बिहार में अब तक जितने लोगों की मौत कोरोना महामारी से नहीं हुई है, उससे ज्यादा मौतें पिछले एक सप्ताह में आसमानी बिजली यानी वज्रपात से हुई है. बिहार में एक सप्ताह के दौरान 125 से ज्यादा लोगों की मौत वज्रपात से हुई है. गुरुवार को बिहार में एकबार फिर वज्रपात से 26 लोगों की मौत हो गई. Also Read - ऑनर किलिंग: प्रेमी के घर पहुंची बहन तो भाई ने दोनों को मार डाला, चिता से जलते हुए शव बरामद

आपदा प्रबंधन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि जिलों से फोन पर मिली सूचना के मुताबिक, राज्य में गुरुवार को आसमान से बिजली गिरने से 26 लोगों की मौत हो गई. इनमें पटना में 6, पूर्वी चंपारण में 4, समस्तीपुर में 7, कटिहार में 3, शिवहर व मधेपुरा में 2-2 तथा पूर्णिया और पश्चिमी चंपारण जिले में एक-एक लोगों की मौत वज्रपात यानी ठनका की चपेट में आने से हो गई. Also Read - यौन-उत्पीड़न हमले की शिकार 12 साल की लड़की की हालत गंभीर, एम्‍स में सर्जरी, ICU में वेंटिलेटर पर

मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे में भारी बारिश और वज्रपात के लिए अलर्ट जारी किया है. इससे पहले, मंगलवार को बिहार के विभिन्न जिलों में वज्रपात से 11 लोगों की मौत हुई थी, जबकि 26 जून को राज्य में वज्रपात की चपेट में आने से 96 लोगों की मौत हुई थी. जहां तक कोरोना के कहर का सवाल है, बिहार में अब तक 10 हजार से ज्यादा लोग वायरस से संक्रमित पाए गए हैं, जिनमें से 78 लोगों की मौत हो चुकी है. Also Read - Bihar Under Lockdown in Unlock 3.0: 16 अगस्त तक नहीं मिलेगी राहत, संक्रमण को रोकने के लिए तय हुए नियम, जानें ये खास बातें