Flood In Bihar: देश के कई हिस्सों में महामारीके बीच बाढ़ के कार जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. बिहार के कई जिले बाढ़ से प्रभावित हैं. इस कारण आज दरभंगा जिले के लहेरियासराय और समस्तीपुर हाइवे के पास बाढ़ के पानी के पहुंचने के कारण लोगों को यातायात में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. वहीं जिले के सदर ब्लॉक में दफ्तरों में पानी भर गया. पूरे बिहार की बात करें तो लगभग 10 लाख यहां बाढ़ से प्रभावित हुए हैं. Also Read - Covid-19: जेल से बाहर आए लालू यादव ने ऑनलाइन मीटिंग में आरजेडी वर्कर्स से की बातचीत

बिहार में बाढ़ प्रभावित उत्तरी जिलों में राहत सामग्री हेलीकॉप्टर की मदद से लोगों के बीच गिराया जा रहा है. करीब 10 लाख लोग यहां बाढ़ की वजह से प्रभावित हैं. शनिवार को किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. राहत पैकेट में ढाई किलोग्राम चावल, एक किलोग्राम चना, 500 ग्राम गुड़, माचिस और एक मोमबत्ती का पैकेट है. बाढ़ प्रभावित परिवारों की पहचान के बाद राज्य सरकार उन्हें छह-छह हजार रुपये की सहायता राशि भी मुहैया कराएगी. Also Read - Coronavirus: PM मोदी ने कोविड-19 स्थिति पर इन 4 राज्यों के मुख्यमंत्रियों से की बात

जानकारी के अनुसार 10 जिलों के 10.61 लाख लोग प्रभावित हैं. अधिकारियों ने बताया कि एनडीआरएफ की 13 और एसडीआरएफ की आठ टीमें लोगों के बचाव अभियान में शामिल है. बाढ़ प्रभावित जिलों में पश्चिमी चंपारण, पूर्वी चंपारण, सीतामढ़ी, शिवहर, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज और खगड़िया शामिल हैं. बागमती, बुढ़ी गंडक, कमलाबलान, लालबकैया, अधवारा, खिरोई, महानंदा और घाघरा नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं. एक अधिकारी ने बताया कि सुगौली-नरकटियागंज के बीच बाढ़ के पानी की वजह से ट्रेन सेवा निलंबित कर दी गई है.