पटना: बिहार के मुजफ्फरनगर जिले के एक बालिका गृह में 34 नाबालिग लड़कियों के साथ दुष्कर्म हुआ, इससे पहले यह आंकड़ा 29 बताया जा रहा था. पुलिस ने शनिवार को इसकी पुष्टि की. मुजफ्फरपुर की एसएसपी हरप्रीत कौर ने कहा, “मुजफ्फरनगर बालिका गृह में 29 नहीं बल्कि 34 लड़कियों के साथ दुष्कर्म हुआ.”पिछले सप्ताह 42 लड़कियों के मेडिकल परीक्षण में खुलासा हुआ कि उनमें से 29 दुष्कर्म का शिकार हुईं हैं. विपक्ष के दबाव में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को सीबीआई जांच की सिफारिश की थी. Also Read - VIDEO: हेलमेट पहनकर आए बदमाशों ने बैंक से कुछ ऐसे की लाखों की लूट, CCTV में कैद हुई वारदात

Also Read - मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस: सिर्फ नेगेटिव ही नहीं पॉजिटिव बातों पर भी ध्यान दें- नीतीश कुमार

मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड की होगी सीबीआई जांच, बिहार सरकार ने की सिफारिश Also Read - बिहार शेल्टर होम स्कैंडल: जंतर मंतर पर आज राजद का धरना, राहुल सहित कई विपक्षी नेता होंगे शामिल

बता दें कि इस मामले का खुलासा तब हुआ, जब मुंबई की संस्था टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइसेंस की टीम ने बालिका गृह के सोशल ऑडिट रिपोर्ट में यौन शोषण का उल्लेख किया. इसके बाद मुजफ्फरपुर महिला थाने में इस मामले की एफआईआर दर्ज कराई गई. इसके बाद लड़कियों की मेडिकल जांच में भी यहां की 41 लड़कियों में से 29 लड़कियों के साथ रेप होने की पुष्टि हुई थी. इस मामले में अब तक मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर सहित 10 लोगों को गिरतार किया जा चुका है.

बिहार बालिका गृह मामला: संदेह के दायरे में आए दोनों मंत्रियों ने कहा आरोप साबित हुए तो पद से इस्तीफा

मुजफ्फरपुर बाल गृहकांड : सीबीआई जांच के आदेश

बिहार सरकार ने मुजफ्फरपुर स्थित बालिका गृह कांड मामले की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने का फैसला लिया था. मुख्यमंत्री ने इस बाबत गुरुवार को वरिष्ठ अधिकारियों को आदेश दे दिया था. अधिकरिक बयान के मुताबिक, “मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन शोषण मामले की जांच पुलिस मुस्तैदी से कर रही है.

बिहार: नारी निकेतन में लड़कियों से रेप, पुलिस की खुदाई में नहीं मिला कोई शव

सरकार निष्पक्ष जांच के लिए प्रतिबद्ध है, लेकिन एक भ्रम का वातावरण बनाया जा रहा है. भ्रम का वातावरण नहीं बने, इसलिए मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक और गृह विभाग के प्रधान सचिव को तत्काल इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपने का निर्देश दिया है.”

नारी निकेतन में लड़कियों से रेप, 40 में अधिकतर से यौन संबंधों की पुष्टि, राबड़ी बोलीं- बिहार शर्मसार

बता दें कि विपक्ष लगातार इस मामले में सरकार पर आरोपियों को बचाने का आरोप लगाते हुए जांच सीबीआई से कराने की मांग कर रहा था. इसे लेकर विधानमंडल के दोनों सदनों में भी कार्यवाही बाधित की जा रही थी.

(इनपुट- एजेंसी)