Corona Virus: बिहार के मुजफ्फरपुर में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है. पत्नी की आई कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट सुनते ही पति को हार्ट अटैक आ गया और अस्पताल पहुंचते ही उसने दम तोड़ दिया. मौत के बाद अस्पताल से शव गांव पहुंचा तो गांव वाले नाराज हो गए और शव  को एंबुलेंस से उतारने नहीं दिया और जमकर हंगामा मचाया. इसकी खबर मिलते ही प्रशासनिक अधिकारियों और स्थानीय मुखिया के सहयोग से मृतक के शव को जेसीबी से दफनाया गया. Also Read - इस राज्य में 31 अक्टूबर तक रहेगा लॉकडाउन, जानें क्या-क्या राहतें मिलेंगी

मुजफ्फरपुर के सरैया में 60 वर्षीय व्यक्ति की पत्नी बीमार थी और उसकी कोविड -19 की जांच के लिए सैंपल लिया गया था. उसकी जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई,  जिसे सुनते ही उसके पति को हार्ट अटैक आ गया  और उसकी मौत हो गई. महिला को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. मृतक मुरलीधर ठाकुर की जांच रिपोर्ट निगेटिव है. Also Read - दिल्ली: कोरोना मुक्त हुए डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया, अस्पताल से छुट्टी मिली

पत्नी के कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी मिलते ही मुरलीधर ठाकुर की तबीयत बिगड़ने लगी जिसके बाद उन्हें इलाज के लिए SKMCH लाया गया जहां इलाज शुरू होने से पहले ही उनका निधन हो गया. Also Read - लालू के लाल तेजप्रताप को सबक सिखाने को तैयार ऐश्वर्या राय, ससुर भी बखिया उधेड़ेंगे

जिला जनसंपर्क पदाधिकारी कमल सिंह ने बताया कि आनंदपुर गंगोलिया में 60 वर्षीय मुरलीधर ठाकुर के निधन के बाद उनका शव एंबुलेंस से घर लाया गया जहां गांववालों ने उनके शव को एंबुलेंस से बाहर नहीं आने दिया. 7 घंटे तक शव एंबुलेंस में ही पड़ा रहा. मृतक का एक बेटा है जो जयपुर में रहता है. उसे पिता के मौत की सूचना दे दी गई है. ग्रामीणोिं के हंगामे के बाद सरैया बीडीओ अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे. स्थानीय मुखिया की मदद से शव को दफनाया गया.