पटना: बिहार की सियासत का मौसम कुछ बदला- बदला सा नजर आ रहा है. अब बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी को नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल (यूनाइटेड) के महागठबंधन में आने पर कोई ऐतराज नहीं है. उन्होंने कहा कि अगर जद (यू) महागठबंधन में आने की पहल करता है तो महागठबंधन इस पर विचार करेगा. बता दें कि केंद्र में एनडीए के दलों की सरकार में जेडीयू शामिल नहीं है और बिहार में अभी हाल में हुए कैबिनेट विस्‍तार में बीजेपी का नया मंत्र‍ी नहीं बनाया गया.

आरजेडी नेता और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने सोमवार की रात एक कार्यक्रम में भाग लेने के बाद पत्रकारों द्वारा नीतीश के महागठबंधन में शामिल होने के एक प्रश्न के उत्तर में कहा, “अगर नीतीश कुमार महागठबंधन में आने की पहल करते हैं तो महागठबंधन इस पर विचार करेगा.” उन्होंने कहा कि नीतीश के महागठबंधन में आने पर उन्हें कोई ऐतराज नहीं है.

बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी द्वारा दी गई इफ्तार पार्टी में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी शामिल हुए थे. वहीं, राजद के उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह ने इससे पहले भाजपा को पछाड़ने के लिए सभी दलों को एक साथ आने की अपील की थी.

पूर्व केंद्रीय मंत्री सिंह ने पत्रकारों के एक प्रश्न के उत्तर में बिना नीतीश कुमार का नाम लिए कहा, “नीति यही कहती है कि भाजपा को पछाड़ने के लिए सभी को एक साथ आना चाहिए. इसमें कहीं छंटाऊं और चुनने-बिनने की बात नहीं होनी चाहिए.”

आरजेडी के नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के बयान कि, ‘नीतीश के महागठबंधन में सभी रास्ते बंद’ के विषय में याद दिलाने पर सिंह ने अपने अंदाज में कहा, “कहीं कोई लिखकर दिया है. यह समय की बात है.”

एनडीए में शामिल जेडीयू के केंद्र में सांकेतिक रूप से मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने के प्रस्ताव को लेकर नीतीश नाराज बताए जा रहे हैं. इस प्रस्ताव के बाद जेडीयू नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल में शामिल नहीं हुई.