हाजीपुर: बिहार के वैशाली जिले में एक अजीबोगरीब घटना प्रकाश में आई है. शांति बनाए रखने के लिए भगवान हनुमान को ही पुलिस को हिरासत में लेना पड़ा है. पुलिस ने इस मामले में दो अलग-अलग पक्षों की ओर से दो अलग-अलग मामले दर्ज कर लिए हैं. पुलिस के एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि पानापुर गौराही गांव में बलवा क्वोरी ठाकुरबाड़ी में एक विवादित जमीन पर कुछ लोगों (तीसरे पक्ष) ने भगवान हनुमान की प्रतिमा स्थापित करने की कोशिश की. इसे लेकर ठाकुरबाड़ी समिति के लोग आक्रोशित हो गए. गुरुवार को इसे लेकर तब विरोध बढ़ गया, जब कुछ लोगों ने इस पर आपत्ति जताते हुए मूर्ति को वहां से हटाने की मांग की.

बिहार में उपद्रव के बाद पुलिस लगातार कर रही गश्त, 50 से अधिक लोग हुए गिरफ्तार

इसके बाद दोनों पक्षों में टकराव की स्थिति आ गई. सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची सदर पुलिस ने हनुमान जी की मूर्ति को अपने कब्जे में ले लिया. हाजीपुर के पुलिस उपाधीक्षक राघव दयाल ने कहा कि दोनों पक्षों के लिखित आवेदन के बाद सदर थाने में मामला दर्ज कर लिया गया है. उन्होंने कहा कि “सार्वजनिक जमीन पर मंदिर या मूर्ति की स्थापना प्रतिबंधित है. भगवान हनुमान की मूर्ति को कब्जे में ले लिया गया है तथा उसे थाने में सुरक्षित रखा गया है. पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है.” पुलिस उपाधीक्षक दयाल कहा कि विवाद समाप्त करने तथा शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए भगवान हनुमान की मूर्ति को गांव से हटाकर पुलिस ने कब्जे में ले लिया है.