Bihar News: बिहार में फिर एक पुल का अप्रोच रोड नदी में बह गया है. सबसे बड़ी बात ये है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इस पुल का आज ही उद्घाटन करने वाले थे. इससे पहले पिछले महीने की 15 तारीख को गोपालगंज के सत्तरघाट पुल का अप्रोच उद्घाटन के कुछ ही दिनों में टूट गया जिसके बाद राज्य सरकार की काफी बदनामी हुई थी. दोनों घटनाओ में फर्क बस इतना है कि उस पुल का अप्रोच रोड सीएम नीतीश कुमार के उद्घाटन करने के बाद टूटी थी. Also Read - बिहार NDA में भी बड़ी दरार! सीटों को लेकर BJP-LJP में रार, चिराग छोड़ सकते हैं गठबंधन का साथ

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को छपरा में बंगरा घाट मेगा ब्रिज का उद्घाटन वीडियो कांफ्रेंसिंग से करना था, लेकिन इस पुल की अप्रोच रोड उद्घाटन से पहले ही बह गया. बिहार अभी बारिश, बाढ़ के साथ कोरोना की मार झेल रहा है. इसके साथ ही बिहार में विधानसभा चुनाव सिर पर है. लिहाजा, उद्घाटन समारोह की प्रक्रिया भी विधिवत चालू है. Also Read - Bihar Assembly Election 2020: महागठबंधन में फिर से टूट! नाराज कुशवाहा ने बुलाई आपात बैठक

बताया जा रहा है कि बुधवार को बैकुंठपुर में सारण बांध टूटने की वजह से बंगरा घाट मेगा ब्रिज की अप्रोच रोड टूटी है. इस पुल की लागत 509 करोड़ रुपये है. वहीं, एक महीना पहले गोपालगंज के जिस सत्तरघाट पुल की अप्रोच रोड टूटी थी उसकी कीमत 264 करोड़ थी. यानी इस बार लगभग डबल कीमत के पुल की अप्रोच रोड भी पानी का बहाव नहीं सहन कर पाई और धारा के साथ बह गई.

इससे पहले गोपालगंज के सत्तरघाट पुल का उद्घाटन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लॉकडाउन के दौरान ही बीते 16 जून को किया था. उद्घाटन के एक महीना बाद ही यानि 15 जुलाई को पुल की अप्रोच रोड गिर गई. इस प्रोजेक्ट में पुल की लंबाई 1.44 किलोमीटर और ब्रिज के दोनों तरफ 10.15 किलोमीटर की अप्रोच रोड शामिल था.

गोपालगंज का सत्तरघाट ब्रिज 2012 से बनना शुरू हुआ था और तय समय से ज्यादा वक्त लेते हुए 2020 में जाकर तैयार हुआ. हादसे के बाद सरकार ने जांच के लिए एक टीम गठित की थी. इसकी जाच अभी चल ही रही है कि अब ये दूसरी घटना सामने आई है.

सत्तरघाट पुल का निर्माण हैदराबाद की वशिष्टा कंस्ट्रक्शन कंपनी ने किया था. मीडिया में खबर आने के बाद कंपनी की लापरवाही की बात सामने आई थी. बताया गया था कि अप्रोच रोड के दोनों किनारों को पिचिंग कर मजबूत नहीं किया गया था. जिसके चलते गंडक नदी में 3 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया तो अप्रोच रोड पानी का प्रेशर नहीं झेल सका और टूट गया.