पटना| बिहार के विभिन्न जिलों में तेज बारिश के चलते वज्रपात और आंधी तूफान की चपेट में आकर मरने वालों की संख्या 28  हो गयी है. राज्य के आठ जिलों में बिजली गिरने से 18 लोगों की मौत हुई. आपदा प्रबंधन विभाग के अतिरिक्त सचिव अनिरूद्ध कुमार ने बताया कि प्रदेश में वज्रपात और आंधी तूफान की चपेट में आने से 23 लोगों की मौत हो गयी. इसमें से पांच लोगों की मौत दीवार गिरने के कारण हुई जबकि बाकी की मौत वज्रपात के कारण हुई.उन्होंने बताया कि पश्चिमी चंपारण के दो अंचलों में छह, पूर्वी चंपारण में पांच, जमुई में चार, मुंगेर एवं मधेपुरा में 2-2, वैशाली, सहरसा और समस्तीपुर में 1-1 व्यक्ति की मौत हो गयी. Also Read - Bihar Teachers Recruitment 2020: अस्टिटेंट प्रोफेसर के पदों पर आवेदन की तारीख एक महीने बढ़ी, ऐसे करें ऑनलाइन आवेदन

पश्चिम चंपारण के योगापट्टी अंचल अधिकारी शंभूनाथ राम ने बताया कि मरने वालों में मैनेजर चौधरी, चन्द्रावती देवी (55), शंभा देवी (40), रीमा कुमारी (14) एवं परमशीला कुमारी (16) की मौत दीवार गिरने के कारण हुई.वहीं, लौरिया अंचल अन्तर्गत धोबनी वृत्ता टोला गांव निवासी मुकेश कुमार (16) की भी आंधी.तूफान की चपेट में आकर मौत हो गयी. Also Read - Bihar Assembly Election 2020 : 'बाबू साहब' के बयान पर घिरे तेजस्वी यादव ने दी सफाई, बोले- बड़का बाबू, छोटका बाबू कौन है

पूर्वी चंपारण आपदा प्रबंधन वरीय उपसमाहर्ता मनोज कुमार ने बताया कि जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रों में आज बारिश के दौरान हुए वज्रपात की चपेट में आकर पांच लोगों की मौत हो गयी. Also Read - जश्‍न में फायरिंग: लोक गायक व एक्‍टर गोलू राजा को सीने में लगी गोली, BJP नेता पर केस दर्ज

मृतकों में कंठलाल राय (70), मीना देवी (40), सुनीता देवी (32), वीणा कुमारी (19) तथा सुशीला देवी (40) शामिल हैं. अनिरुद्ध कुमार ने यह भी बताया कि आज की घटनाओं में मारे गये लोगों के परिजनों को 4-4 लाख रुपए का मुआवजा भी दिया जायेगा.