मधेपुरा (बिहार): राष्ट्रीय नागरिक पंजी का बचाव करते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता और राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने शुक्रवार को कहा कि भारत कोई धर्मशाला नहीं है. अभी तक राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) सिर्फ असम में प्रकाशित हुई है और केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इसे पूरे देश में लागू करने का प्रस्ताव रखा है. इसके तहत देश के मूल नागरिकों की पहचान कर उन्हें एनआरसी में शामिल किया जाता है.

संवाददाता सम्मेलन के दौरान पूर्व केन्द्रीय मंत्री ने अपने बयान में स्पष्ट किया कि दुनिया के सभी हिस्सों से आने वाले लोगों का भारत में स्वागत होगा, अगर वे वैध पासपोर्ट और वीजा के साथ आएंगे. उन्होंने कहा कि हम कोई धर्मशाला नहीं चला रहे हैं जहां कोई भी, कभी भी आ सकता है और जब तक चाहे रूक सकता है. दुनिया के सभी हिस्सों से लोगों को भारत आने की अनुमति होगी. किसी पर प्रतिबंध नहीं है. लेकिन उनके पास वैध पासपोर्ट होना चाहिए और उन्हें वीजा में तय समय से ज्यादा देश में नहीं रुकना चाहिए. अवैध आव्रजकों के खिलाफ जरुरी कार्रवाई होनी चाहिए.

हुसैन एनआरसी के संबंध में पूछे गए सवालों का जवाब दे रहे थे. पूरे देश में एनआरसी लागू करने की गृह मंत्री की योजना से उत्तरी बिहार में लोगों में काफी चिंता है क्योंकि वहां मुसलमानों की संख्या बहुत ज्यादा है. भाजपा लंबे समय से आरोप लगा रही है कि यहां बांग्लादेश से आने वाले घुसपैठियों के कारण जननांकिकी परिवर्तन आए हैं. हुसैन ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर में हालिया घटनाक्रम पर नरेन्द्र मोदी सरकार के खिलाफ उनके विलाप ने पाकिस्तान को भारतीय रुख को नीचा दिखाने का मौका दे दिया है.

उन्होंने कहा कि ऐसा दूसरी बार हुआ है जब विपक्ष के वरिष्ठ नेता गांधी ने राष्ट्रीय हितों को नुकसान पहुंचाया है. इससे पहले उन्होंने सर्जिकल हमलों का सबूत मांग कर अपनी ही सेना का मजाक बनाया था. आर्थिक नरमी के बारे में सवाल करने पर भाजपा के प्रवक्ता ने कहा कि यह सिर्फ कुछ ही सेक्टरों तक सीमित है. लेकिन उन्हें भी समय के साथ-साथ ठीक कर लिया जाएगा. सवाल के जवाब में हुसैन ने कहा कि जैसे चीनी और शक्कर में कोई फर्क नहीं है, वैसे ही बिहार में भाजपा और जद(यू) में भी कोई मतभेद नहीं है. उन्होंने यह भी कहा कि जैसे सूरज का पूरब से निकलना तय है, वैसे ही झारखंड, हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों में भाजपा की जीत भी पक्की है.