IndiGo एयरलाइन्स के मैनेजर रूपेश कुमार सिंह (40) की हत्या के बाद पैदा हुए तनाव और राजनीतिक बयानबाजी के बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने दोषियों के खिलाफ जल्द से जल्द कार्रवाई करने के निर्देश दिये. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को पुलिस महानिदेशक से बात कर रूपेश कुमार सिंह की हत्या से संबंधित अद्यतन स्थिति की जानकारी ली. पुलिस महानिदेशक ने बताया कि इस हत्याकांड की जांच के लिए विशेष जांच दल (SIT) गठित कर त्वरित कार्रवाई की जा रही है. Also Read - Bihar News: हिंदी की ऐसी की तैसी, लालू के लाल तेजप्रताप अपने पिता का नाम भी नहीं लिख सकते...

अपर पुलिस महानिदेशक (मुख्यालय) जितेंद्र कुमार ने बुधवार को बताया कि मामले की जांच के लिए पुलिस अधीक्षक (नगर) के नेतृत्व में विशेष टीम ने जांच शुरू कर दी है. उन्होंने कहा कि अभी तक की जांच में यह बात सामने आई है कि इस वारदात को पेशेवर अपराधियों ने अंजाम दिया है. अपराधियों की पहचान और गिरफ्तारी के लिए विशेष कार्य बल को भी लगाया गया है. Also Read - नीतीश के विश्वासपात्र मंत्री से मिले लोजपा के एक मात्र विधायक, अटकलें तेज

जितेंद्र कुमार ने बताया कि इस मामले में अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है. उन्होंने कहा कि मृतक के फोन की जांच में एफएसएल टीम और अपराध अनुसंधान विभाग की टीम जिला पुलिस को सहयोग कर रही है. छपरा निवासी रूपेश कल देर शाम अपनी कार से पुनाईचक मोहल्ले स्थित घर के गेट के नजदीक ही पहुंचे थे, जब अपराधियों ने उन पर अंधाधुंध गोलीबारी की. CCTV फुटेज में मोटरसाइकिल सवार दो लोगों को वारदात स्थल के पास से जाते हुए देखा गया है. Also Read - Bihar News: JDU नेता की हत्या मामले में RJD की पूर्व विधायक Kunti Devi को उम्रकैद

बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने इस तरह की वारदात प्रदेश में बार-बार होने का आरोप लगाते हुए बुधवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमाला किया. उन्होंने कहा, ‘भाजपा के लोग (उन्हें) जंगलराज का युवराज बोलते थे. आज जंगलराज का महाराजा कौन है. कहां हैं प्रधानमंत्री?’

राजद नेता ने कहा, ‘प्रधानमंत्री चुनाव के समय कहते थे कि आपका बेटा दिल्ली में बैठा है. कुछ भी गलत नहीं होगा. तो क्या प्रधानमंत्री जी बता पाएंगे कि क्या रूपेश सिंह के परिवार के लोग छठ मना पाएंगे. हमको जंगलराज का युवराज कहते थे. अब बताएं प्रधानमंत्री जी महाजंगलराज का महाराजा कौन है. कहां गायब हैं. अब आएं सामने. आकर पूछताछ और कार्रवाई करनी चाहिए. किस बात की डबल इंजन सरकार है यहां.’

उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि ‘सलेक्टेड-नॉमिनेटेड’ मुख्यमंत्री, जो की थके हुए हैं, सरकार नहीं चला पा रहे हैं. उन्होंने बिहार में गुंडाराज होने का आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा को मुख्यमंत्री से केवल सवाल पूछकर बचने का प्रयास करने के बजाए बताना चाहिए कि उसके दो उप-मुख्यमंत्री सहित अन्य मंत्री किस काम के लिए हैं.

तेजस्वी के आरोप पर उप-मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि ‘हमें उनके प्रमाणपत्र की जरूरत नहीं. हमें अपने दायित्व के बारे में पूरा एहसास है.’ भाजपा के राज्यसभा सांसद विवेक ठाकुर ने इस घटना को दुखद और गंभीर बताते हुए कहा कि यह घटना प्रदेश की नवनिर्वाचित राजग सरकार के लिए चुनौती है और अगर तीन से पांच दिनों के भीतर पुलिस किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचती है तो इस मामले को अविलंब सीबीआई को सौंपा जाना चाहिए.

(इनपुट: भाषा)