पटना में हुए रूपेश सिंह हत्याकांड मामले में एक के बाद एक पुलिस के हाथ कई सुराग लग रहे हैं. इसी कड़ी में पुलिस के हाथ सीसीटीवी कैमरे खंगालने पर कुछ अहम सुराग लगे हैं. सीसीटीवी से मिली फुटेज के मुताबिक अपराधियों ने रुपेश का पीछा एयरपोर्ट से ही करना शुरू कर दिया था. रास्ते में हर जगह अपराधी बस मौके की तलाश में थे लेकिन अच्छा मौका न मिल पाने के कारण रास्ते में शूटरों ने हमला नहीं किया. लेकिन जैसे ही रूपेश की गाड़ी उनके अपार्टमेंट की गली की तरफ घूमती है शूटर उनपर हमला कर देते हैं और 6 गोलिया मार देते हैं.Also Read - मध्य प्रदेश: 14 साल की लड़की से ट्रक में गैंगरेप, हत्या कर शव चंबल नदी में फेंका

पुलिस की मानें तो जिस तरीके से इस घटना को अंजाम दिया गया है, उससे यह समझ आता है कि अपराधी बेहद प्रोफेशनल हैं. उन्हें रुपेश की आने-जाने, एयरपोर्ट से बाहर निकलने तक की जानकारी थी. खबरों की मानें तो पुलिस ने जब सीसीटीवी फुटेज खंगाला तो उन्हें कई अहम सुराग मिले हैं. Also Read - CSBC Bihar Police Constable Driver Result: बिहार पुलिस कांस्‍टेबल ड्राइवर का परिणाम जारी, चेक करें यहां

पुलिस ने रूपेश के अपार्टमेंट के पास के एक सीसीटीवी फुटेज को भी खंगाला. इसमें पुलिस को 07.01 बजे की फुटेज मिली है, जिसमें एक बाइक पर दो युवक रुपेश की गाड़ी को ओवरटेक करते हैं. पुलिस को आशंका है कि यही दोनों अपराधी हैं. पुलिस का कहना है कि रूपेश की हत्या से पहले अपराधियों ने रेकी की थी. क्योंकि मारने के बाद किस रास्ते से भागना है यह उन्हें पता था. Also Read - कोरोना और उसके Omicron वेरिएंट की वजह से Indigo करीब 20 फीसदी उड़ानें रद्द करेगी

ठेकेदारी कनेक्शन

बता दें कि रूपेश सिंह के भाई सरकारी कामों की ठेकेदारी का काम करते हैं. ऐसे में छपरा जिले में भी ठेकेदारी का काम चलता था. ऐसे में पुलिस ठेकेदारी के एंगल की भी जांच करने वाली है. क्योंकि कई बार ऐसे मामले भी अपराध की जड़ तक पहुंचाते हैं. इस कारण पुलिस की एक टीम को छपरा जानकारी जुटाने के लिए भेजा गया है.

यही नहीं बिहार पुलिस रुपेश के मोबाइल नंबर की जानकारी भी जुटा रही है. वे किससे कितना बात करते थे. हत्या से पहले उनकी किन किन लोगों से बात हुई थी. पुलिस इन सभी जानकारियों को जुटा रही है. बता दें कि इस घटना के बाद बिहार की राजनीति गरमा गई है. कई नेता विपक्ष और पक्ष के अपराधियों के एनकाउंटर की बात कर रहे हैं, वहीं कई लोग नीतीश कुमार से इस्तीफा तक मांग रहे हैं.