Bihar Assembly election 2020: जन अधिकार पार्टी ने बिहार विधानसभा चुनाव से पहले अपना प्रतिज्ञा पत्र जारी किया है. पार्टी सुप्रीमो पप्पू यादव ने पटना में जनअधिकार पार्टी का प्रतिज्ञा पत्र फर्स्ट ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट के सामने शपथ पत्र के साथ जारी किया. प्रतिज्ञा पत्र जारी करने के बाद पप्पू यादव ने कहा कि बिहार को 30 साल तक दो भाइयों ने लूटा है. आज एक सेवक और बिहार के बेटे के रूप में मैं बस एक कार्यकाल मांग रहा हूं, बिहार को बदल दूंगा.Also Read - Bihar News: प्रेमिका के घरवालों ने प्रेमी की पीट-पीटकर कर दी हत्या, हफ्ते भर के भीतर दूसरी ऐसी घटना

सभी वर्गों से बनाए जाएंगे एक-एक डिप्टी सीएम Also Read - Bihar Assembly Session: बिहार विधानसभा में जोरदार हंगामा, सदन में RJD विधायक ने कहा 'बेईमान'

पप्पू ने कहा कि पहली बार फॉरवर्ड, बैकवर्ड, हिन्दू, मुस्लमान, दलित, महादलित जैसे शब्दों को बिहार से उखाड़ने का काम इस प्रतिज्ञा पत्र के माध्यम से किया है. वीरकुंवर सिंह, विद्यापति, सम्राट अशोक, आर्यभट्ट की इस भूमि पर भोजपुरी और मैथली का अद्भुत संगम है. पूरी दुनिया में ऐसा सिर्फ बिहार के पास है. प्रतिज्ञा पत्र को ज्ञान, संघर्ष और परिश्रम का दस्तावेज बताते हुए पप्पू यादव ने कहा कि सभी समुदायों को समान हक और सम्मान देने के लिए सभी वर्गों से एक-एक डिप्टी सीएम बनाए जाएंगे. Also Read - Bihar News: कथावाचक बने बिहार के पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडे, मथुरा में कर रहे भगवद कथा का पाठ

फर्स्ट डिवीजन में इंटर पास करने पर मोटरसाइकिल-स्कूटी देंगे

पप्पू यादव ने इंटर की परीक्षा प्रथम श्रेणी से पास करने वाले छात्रों को मोटरसाइकिल एवं छात्राओं को स्कूटी देने की घोषणा की है. स्वास्थ्य व्यवस्था में सुधार का भरोसा दिलाते हुए जाप अध्यक्ष ने कहा कि तीन साल के अन्दर हर अनुमंडल में 300 बेड का अस्पताल, ढाई साल के अन्दर ब्लॉक और जिला मुख्यालयों के अस्पतालों को सुपर स्पेशलिस्ट अस्पताल बनाएंगे.

सुशांत के नाम पर बनाएंगे फिल्म सिटी

सुशांत सिंह राजपूत के नाम पर फिल्म सिटी के निर्माण की घोषणा करते हुए पप्पू यादव ने कहा कि आज यदि बिहार के प्रतिभावान युवा दूसरे राज्यों में उपेक्षा के शिकार हो रहे है उसका कारण बिहार में खेल और मनोरंजन के लिए आधारभूत संरचना का अभाव है.

होगी नई बहाली, बढ़ेगा कर्मचारियों का मानदेय
पप्पू ने पटना मे कहा कि मिड डे माल रसोइये, विकास मित्र, टोला सेवक, शिक्षा सेवक तालिमी मरकज़ और आंगनवाड़ी सेविकाओं के मानदेय को बढ़ाने की बात प्रतिज्ञा पत्र में की गई है. इसके अलावा वृद्ध और विधवा पेंशन समेत सभी प्रकार के पेंशन की राशि को 500 से बढ़ाकर 3,000 रुपए प्रतिमाह करने की भी बात की गई है. वित्त रहित प्रोफेसर, गेस्ट फैकल्टी प्रोफेसर, निविदा, संविदा, नियोजित पर बहाली नहीं होगी. सभी की स्थाई नियुक्ति की जाएगी.