पटना: बिहार के एक कैबिनेट मंत्री ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के राजग में फिर से शामिल होने को लेकर उन पर व्यंग्यात्मक टिप्पणी की. इसे लेकर उन्हें जेडी-यू की तीखी प्रतिक्रिया का सामना करना पड़ा. पार्टी ने बीजेपी नेता के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. बता दें कि पूर्वी चंपारण जिले में गुरुवार को एक रैली के दौरान भाजपा को ”भारतीय जुमला पार्टी” कहने के आरएलएसपी प्रमुख एवं केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा के बयान पर प्रतिक्रिया मांगने पर पर्यटन मंत्री प्रमोद कुमार ने यह बात कही. मंत्री ने कहा, ”नीतीश कुमार और लालू प्रसाद भी भाजपा की व्याख्या इसी तरह से करते थे. अब वे कहां हैं?

पर्यटन मंत्री प्रमोद कुमार ने कहा कि वह नीतीश कुमार थे, जो भाजपा में वापस आए. यह पूछने पर क्या दोनों पार्टियां सत्ता के लिए साथ आईं, उन्होंने कहा, ”नीतीश कुमार एक समस्या का हवाला देते हुए वापस आए. अगर वह गठबंधन में बने रहते तो उन्हें लालू प्रसाद से मिलने जेल जाना पड़ता.”

वहीं, जेडी (यू) प्रवक्ता ने पर्यटन मंत्री के बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ”नीतीश कुमार न सिर्फ हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं, वह मुख्यमंत्री भी हैं और एक बेहद लोकप्रिय नेता भी.”

भाजपा की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष संजय सिंह टाइगर ने कहा, ”राजनीति में एक व्यक्ति को अपने शब्दों के इस्तेमाल को लेकर बहुत संयम बरतना चाहिए. हम चाहते हैं कि संगठन की हमारी साथी, भाजपा, इस बयान पर गौर करे और उचित कदम उठाए.”

लालू प्रसाद के बेटे और तत्कालीन उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले दर्ज होने के बाद कुमार पिछले साल महागठबंधन से अलग होकर एनडीए में शामिल हो गए थे. बिहार में महागठबंधन में कांग्रेस भी शामिल थी.