पटना: बीजेपी शासित कई राज्यों में धर्मांतरण कानून बनाया जा रहा है. वहीं, बीजेपी (BJP) के साथ मिलकर बिहार में सरकार चला रही जेडीयू (Janta Dal United) ने इसे लेकर कड़ा हमला बोला है. जेडीयू ने कहा कि ऐसे कानून समाज में घृणा और विभाजन उत्पन्न कर रहे हैं, जो उसे मंजूर नहीं है. जेडीयू नेता केसी त्यागी (KC Tyagi) ने कहा, ‘लव जिहाद (Love Jihad) के नाम पर समाज में नफरत और विभाजन का माहौल बनाया जा रहा है.’ Also Read - Maharashtra Gram Panchayat Chunav Result 2021: भाजपा का दावा-मिली सबसे बड़ी जीत, होंगे सबसे ज्यादा सरपंच

केसी त्यागी ने कहा, ‘‘संविधान और सीआरपीसी (CRPC) के प्रावधान दो वयस्कों को अपनी पसंद का जीवन साथी चुनने की आजादी देते हैं, चाहे वह किसी भी धर्म, जाति या क्षेत्र का हो.’’ उन्होंने कहा कि समाजवादियों ने डॉ. राम मनोहर लोहिया (Dr. Ram Manohar Lohiya) के दिनों से ही वयस्कों के विवाह के अधिकार को बरकरार रखा है, चाहे वह किसी भी जाति और सम्प्रदाय में हो. लोहिया एक समाजवादी विचारक थे. Also Read - Bihar Cabinet Expansion News: खत्म हुआ इंतजार, बिहार में जल्द होगा मंत्रिमंडल का विस्तार, नीतीश कुमार ने कही यह बात...

भाजपा शासित मध्य प्रदेश में मंत्रिमंडल ने कथित ‘लव जिहाद’ के खिलाफ सख्त कानून बनाने के लिए शनिवार को एक विधेयक को मंजूरी दे दी. इस विधेयक में शादी तथा किसी अन्य कपटपूर्ण तरीके से किए गए धर्मांतरण के मामले में अधिकतम 10 साल तक की कैद एवं एक लाख रुपये के जुर्माने का प्रावधान है. इसी तरह का एक अध्यादेश पिछले महीने उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार द्वारा अधिसूचित किया गया है. हालांकि इसे इलाहाबाद उच्च न्यायालय में चुनौती देते हुए एक जनहित याचिका दायर की गई है. Also Read - Cow Drinks Liquor Viral News: पानी समझकर शराब पी गईं गायें, फिर जो हुआ उसे जान दंग रह गए लोग