Bihar Assembly Election 2020: जीतनराम मांझी ने आज औपचारिक ऐलान कर दिया कि उनकी पार्टी हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा गुरुवार यानि तीन सितंबर से एनडीए का हिस्सा हो जाएगी. मांझी के एनडीए में वापसी पर तंज कसते हुए राजद नेता और प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि, जदयू ने जीतन राम मांझी को अपमानित किया था वो भूल गए हैं और आज मांझी अपमान का घूंट पीकर उन्हीं के साथ जा रहे हैं. Also Read - Unlock-4: बिहार से नेपाल, यूपी और झारखंड के लिए जल्द खुलेंगी बसें, हो रही तैयारी

राजद नेता ने कहा कि लोकसभा चुनाव के वक्त महागठबंधन की पतवार जीतन राम मांझी के हाथ में थी लेकिन, उन्होंने महागठबंधन की नाव को डुबो दिया था. मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि मांझी अब एनडीए की नैया को डुबोने के बाद फिर हमारे साथ ही आएंगे. Also Read - बिहार में पोस्टर वार: 'एक ऐसा परिवार जो बिहार पर भार' लालू 'सजायाफ्ता कैदी नंबर 3351'

बता दें कि बुधवार को पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने औपचारिक रूप से एनडीए के साथ जाने का फैसला लेते हुए इसकी औपचारिक घोषणा की है और कहा है कि हम जेडीयू के पार्टनर के रूप में एनडीए के लिए काम करेंगे, जेडीयू में विलय नहीं करेंगे. हम एनडीए के एलाइंस के रूप में काम करेंगे. हमने विधानसभा में सीट को लेकर कोई शर्त नहीं रखी है. चूंकि नीतीश जी एनडीए के अंग हैं, इसिलए हम भी एनडीए के पार्टनर हैं, लेकिन हम नीतीश कुमार के नजदीक बने रहेंगे. Also Read - बिहार: विधायक जी ने दी धमकी-अगर हम हारे तो तुम्हारे गांव में अकाल पड़ेगा, Video पर बवाल

जीतन राम मांझी ने कहा कि एनडीए से अभी सीटों को लेकर कोई विचार-विमर्श नहीं हुआ है. इसे बाद में बैठकर सुलझा लेंगे. मांझी ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में एनडीए को जीत दिलाने के लिए पूरा जोर लगाएंगे. खुद के चुनाव लड़ने के संबंध में पूछे गए एख सवाल के जवाब में मांझी ने कहा कि यदि उनके नेता, कार्यकर्ता और जेडीयू के लोग चाहेंगे तो मैं भी चुनाव जरूर लड़ूंगा, लेकिन मेरा मानना है कि  75 वर्ष की आयु के बाद सक्रिय राजनीति में व्यक्ति को नहीं रहना चाहिए.