Bihar Assembly Election 2020: बिहार में महागठबंधन टूट गया है. हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा ने गुरुवार को महागठबंधन से अलग होने का ऐलान कर दिया है. महागठबंधन में लगातार नाराज चल रहे बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने आज अपने आवास पर पार्टी की अहम बैठक बुलाई थी जिसके बाद बैठक में निर्णय लेते हुए जीतनराम मांझी की पार्टी हम ने महागठबंधन से नाता तोड़ लिया है.Also Read - शराबबंदी सही है या नहीं... महिलाओं से पूछने निकलेंगे नीतीश कुमार, जल्दी ही यात्रा करेंगे

हम पार्टी प्रवक्ता दानिश रिजवान ने मांझी के इस फैसले की पुष्टि की है और कहा है कि हमारी पार्टी ने RJD का बहुत अपमान सह लिया है. महागठबंधन मे उनकी दादागिरी चल रही है. हालांकि मांझी एनडीए में जाएंगे या नहीं इसका फैसला अभी नहीं हुआ है.  इसका फैसला लेने के लिए पार्टी ने जीतन राम मांझी को अधिकृत किया है. हालांकि, यह साफ कर दिया गया है कि किसी भी हालत में हम का जदयू में विलय नहीं होगा. Also Read - Bihar विधानसभा परिसर में मिलीं शराब की बोतलें, नीतीश कुमार ने तेजस्‍वी यादव के सवाल का दिया ये जवाब

मिली जानकारी के मुताबिक कहा जा रहा है कि मांझी ने महागठबंधन से बाहर जाने का निर्णय सीएम नीतीश से मिले इस आश्वासन के बाद ही लिया है कि उनकी पार्टी हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा को विधानसभा चुनाव में करीब 7 से 10 टिकट जदयू कोटे से मिलेंगे. एनडीए में वापसी को लेकर जीतन राम मांझी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बीच फोन पर बातचीत हो चुकी है और बस मांझी की तरफ से इसका ऐलान होना बाकी है. Also Read - लापरवाही! बिहार के मुजफ्फरपुर में मोतियाबिंद का ऑपरेशन कराने वाले 25 लोगों की आंखों की रोशनी गई