पूर्णिया: बिहार के पूर्णिया जिला के केहाट थाना अंतर्गत प्रभात कॉलोनी स्थित एक रिमांड होम में बाल कैदियों द्वारा की गयी गोलीबारी में एक वार्डन और एक बाल कैदी की बुधवार की शाम मौत हो गयी. घटना में दो अन्य बाल कैदी जख्मी हो गए.

जिलाधिकारी प्रदीप कुमार ने बताया कि मरने वालों में हाउस फादर (वार्डन) तथा पूर्णिया जिला निवासी विजेन्द्र कुमार और मधेपुरा जिले के चौसा निवासी बाल कैदी शामिल हैं. उन्होंने बताया कि इस वारदात के बाद गोली चलाने वाले बाल कैदी हवाई फायरिंग करते हुए तथा उसके साथ चार अन्य बाल कैदी रिमांड होम का मुख्य द्वार खोल कर फरार हो गए जिन्हें पकड़ने के लिए छापेमारी की जा रही है. प्रदीप ने बताया कि गोलीबारी की इस घटना में घायल हुए दो अन्य बाल कैदियों को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

रिमांड होम के गार्ड सूरज कुमार ने बताया कि गोलीबारी में मारे गए बाल कैदी की ओर से दी गयी जानकारी के आधार पर मंगलवार को हाउस फादर ने वार्ड चेकिंग कर एक दूसरे बाल कैदी के पास से कॉरेक्स कफ सीरप की दस बोलतें बरामद की. इसके बाद उन्हें डांट पड़ी थी और अन्य रिमांड होम में हस्तांतरित किए जाने की चेतावनी दी गयी थी. इसके बाद उन्होंने इस घटना को अंजाम दिया.

बिहार: बालिका गृह कांड के बाद रिमांड होम में किशोरों से मारपीट व अप्राकृतिक यौनाचार का आरोप

इसी साल अगस्त महीने के पहले सप्ताह में भोजपुर जिला मुख्यालय आरा स्थित एक रिमांड होम में तीन किशोरों ने अपने साथ रहने वाले सात लड़कों पर मारपीट और अप्राकृतिक यौनाचार किए जाने का सनसनीखेज आरोप लगाया था. इससे कुछ दिन पहले ही मुजफ्फरनगर जिले के एक बालिका गृह में 34 नाबालिग लड़कियों के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया था.