पटना: कोरोना के संक्रमण काल में अपने पिता को साइकिल पर बिठाकर हरियाणा के गुरुग्राम से बिहार के दरभंगा लाने वाली ज्योति को चर्चित शिक्षण संस्थान सुपर 30 ने संस्थान में इंजीनियरिंग की तैयारी कराने के लिए न्योता दिया है. सुपर 30 के प्रणव कुमार ने रविवार को ज्योति और उनके पिता से मिलकर उन्हें उज्‍जवल भविष्य की शुभकामना दी और भविष्य में सुपर 30 में पढ़ने के लिए आमंत्रित किया. Also Read - बिहार में कोरोना से बड़ी मुसीबत बनी आकाशीय बिजली, आज 26 लोगों की मौत, एक सप्ताह में गईं 125 जानें

सुपर 30 के संस्थापक आनंद कुमार ने सोमवार को फेसबुक पर प्रणव के ज्योति से मुलााकत की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा, “बिहार की बेटी ज्योति कुमारी ने हरियाणा से 1200 किलोमीटर साईकिल चलाते हुये अपने बीमार पिता को दरभंगा लाकर मिसाल कायम किया है. कल मेरे छोटे भाई प्रणव कुमार ने ज्योति से मुलाकात की. Also Read - JEE नहीं हुआ क्लीयर, तो ना हों परेशान, IIT Madras ने लॉन्च किया ये कोर्स

उन्होंने आगे कहा कि अगर ज्योति आगे चलकर आईआईटी प्रवेश परीक्षा की तैयारी करना चाहेगी तो हमलोगों का सौभाग्य होगा कि वह सुपर 30 का हिस्सा बने. इंजीनियरिंग की पढ़ाई में होने वाले खर्च की व्यवस्था हमलोग ही करेंगे.” उल्लेखनीय है कि सुपर 30 भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान की प्रवेश परीक्षा की तैयारी कराने के लिए प्रसिद्घ संस्थान है. इससे पहले भी ज्योति को कई शिक्षण संस्थानों ने नि:शुल्क शिक्षा देने या पढ़ाई में आने वाले सभी खर्च वहन करने की घोषणा की है. Also Read - बिहार विधान परिषद चुनाव: सभी नौ उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित घोषित