पटना: कोरोना के संक्रमण काल में अपने पिता को साइकिल पर बिठाकर हरियाणा के गुरुग्राम से बिहार के दरभंगा लाने वाली ज्योति को चर्चित शिक्षण संस्थान सुपर 30 ने संस्थान में इंजीनियरिंग की तैयारी कराने के लिए न्योता दिया है. सुपर 30 के प्रणव कुमार ने रविवार को ज्योति और उनके पिता से मिलकर उन्हें उज्‍जवल भविष्य की शुभकामना दी और भविष्य में सुपर 30 में पढ़ने के लिए आमंत्रित किया.Also Read - बिहार: जहानाबाद में छात्रों ने ट्रेन रोकी, गया में प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन को किया आग के हवाले

सुपर 30 के संस्थापक आनंद कुमार ने सोमवार को फेसबुक पर प्रणव के ज्योति से मुलााकत की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा, “बिहार की बेटी ज्योति कुमारी ने हरियाणा से 1200 किलोमीटर साईकिल चलाते हुये अपने बीमार पिता को दरभंगा लाकर मिसाल कायम किया है. कल मेरे छोटे भाई प्रणव कुमार ने ज्योति से मुलाकात की. Also Read - RRB-NTPC रिजल्ट विवाद: रेल मंत्रालय का बड़ा फैसला-स्थगित की गईं दोनों परीक्षाएं, सुनी जाएगी कैंडिडेट्स की बात

उन्होंने आगे कहा कि अगर ज्योति आगे चलकर आईआईटी प्रवेश परीक्षा की तैयारी करना चाहेगी तो हमलोगों का सौभाग्य होगा कि वह सुपर 30 का हिस्सा बने. इंजीनियरिंग की पढ़ाई में होने वाले खर्च की व्यवस्था हमलोग ही करेंगे.” उल्लेखनीय है कि सुपर 30 भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान की प्रवेश परीक्षा की तैयारी कराने के लिए प्रसिद्घ संस्थान है. इससे पहले भी ज्योति को कई शिक्षण संस्थानों ने नि:शुल्क शिक्षा देने या पढ़ाई में आने वाले सभी खर्च वहन करने की घोषणा की है. Also Read - प्रदर्शन में रेलवे की संपत्ति की तोड़फोड़ में शामिल अभ्यर्थियों की भर्ती पर लगाया जा सकता है आजीवन बैन: रेल मंत्रालय