कटिहार: बिहार के कटिहार जिला के फलका प्रखंड अंतर्गत सालेहपुर महादलित टोला में एक ही परिवार के तीन बच्चों की डायरिया से मौत हो गई. इसके साथ ही छह अन्य बच्चे अब भी इस बीमारी से पीड़ित हैं. इनमें से तीन की हालत चिंताजनक बताई जा रही है. गांव में जलभराव वाली जगहों पर डीडीटी का छिड़काव करवाने के अलावा आवश्यक दवाओं के साथ एक एएनएम को भी नियुक्त करवाया.

GOOD NEWS: नवजात को डायरिया से बचाने वाली रोटा वायरस वैक्सीन यूपी में भी लांच

फलका प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में तैनात डॉक्टर पंकज कुमार ने सोमवार को बताया कि सालेहपुर महादलित टोला वार्ड संख्या एक के रहने वाले इन बच्चों को कल शाम प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए जिला अस्पताल रेफर किया गया था, लेकिन परिजन उन्हें एक निजी डॉक्टर के पास ले गए, जहां इलाज के दौरान बच्चों की मौत गई. मृतक बच्चों में सालेहपुर महादलित टोला वार्ड संख्या एक के रहने वाले गणेश ऋषि की बेटी चंचला कुमारी (12), कृष्णा कुमार (पांच) और बिशुन कुमार (दो) शामिल हैं.

गर्मी और बरसात के मौसम में वायरस का खतरा होता है ज्यादा, ऐसे करें बचाव

पंकज कुमार ने सोमवार को फलका प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की टीम के साथ मृतक बच्चों के परिजन से मुलाकात की. उन्होंने सालेहपुर गांव में जल जमाव वाली जगहों पर डीडीटी का छिड़काव करवाने के अलावा आवश्यक दवाओं के साथ एक एएनएम को भी नियुक्त करवाया. डायरिया से पीड़ित छह अन्य बच्चों में से तीन का इलाज गांव में ही चिकित्सक कर रहे हैं, जबकि गंभीर रूप से बीमार तीन अन्य बच्चों को बेहतर इलाज के लिए जिला सदर अस्पताल भेजा जा रहा है.