किशनगंज: बिहार के किशनगंज जिले के नगर थाना अंतर्गत पूरबपाली पॉवर हाउस के समीप एक जूट व्यवसायी के गोदाम में डकैती के लिए पहुंचे अपराधियों की पुलिस के साथ मुठभेड़ में एक पुलिसकर्मी की जान चली गयी, वहीं पुलिस ने एक अपराधी को ढेर करते हुए तीन डकैतों को धर दबोचा. किशनगंज के प्रभारी पुलिस अधीक्षक विशाल शर्मा ने बताया कि मंगलवार रात को स्कार्पियो में सवार होकर पहुंचे करीब 14 लोगों ने जूट व्यवसायी नंद किशोर अग्रवाल के गोदाम पर धावा बोल दिया. Also Read - डकैती से घर में मचा था कोहराम, जैसे ही पुलिस ने कहा-ये तो मामला प्रेम प्रसंग का है, कि बस..

Also Read - पालघर में साधुओं पर फिर हमला, मंदिर में तोड़फोड़ और लूटपाट

कार लूटकर भाग रहे बदमाशों से पुलिस की मुठभेड़: एक बदमाश की मौत, दो फरार Also Read - बंदूक दिखाकर लूटने लगा, पंजाबी शख्स ने 'और कुछ' कहकर लुटेरे को ही खदेड़ा, दुनिया देख रही ये VIDEO

अग्रवाल के कर्मचारियों के शोर मचाने की आवाज सुनकर पास से गुजर रही पुलिस गश्त टीम जब वहां पहुंची तो अपराधियों ने पुलिस दल पर गोलीबारी शुरू कर दी जिसकी चपेट में आने से पुलिसकर्मी बिरसा उड़ाव की जान चली गई. उन्होंने बताया कि जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने एक डकैत को ढेर कर दिया और तीन डकैतों को पकड़ लिया. इस बीच डकैतों ने चाकू से हमला कर गोदाम पर तैनात एक गार्ड को गम्भीर रूप से ज़ख़्मी कर दिया जिसे इलाज के लिए स्थानीय मेडिकल कालेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

पुलिस से मुठभेड़ में इनामी बदमाश गिरफ्तार, तीन पुलिसकर्मी जख्मी

शर्मा ने बताया कि गिरफ्तार डकैतों में से दो पड़ोसी राज्य झारखण्ड के साहेबगंज तथा बिहार के पूर्णिया जिले के रहने वाले और एक पडोसी राज्य पश्चिम बंगाल का रहने वाला है. उन्होंने बताया कि वारदात स्थल से छह देसी बम, एक देसी कट्टा, दो खोखे और अन्य धारदार हथियार बरामद किये गये हैं. शर्मा ने बताया कि मुठभेड़ स्थल से फरार अन्य डकैतों की गिरफ्तारी के लिए आसपास के इलाकों की नाकेबंदी कर छापेमारी की जा रही है और सीमावर्ती जांच चौकी को अलर्ट कर दिया गया है. उल्लेखनीय है कि अग्रवाल के व्यवसायिक प्रतिष्ठानों और घर को डकैतों ने तीसरी बार निशाना बनाया है.