नई दिल्ली: राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) अध्यक्ष लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेजप्रताप ने एक स्थानीय अदालत में अर्जी दाखिल कर अपनी पत्नी ऐश्वर्या राय से तलाक की गुहार लगाई है. 6 महीने में ही इस चर्चित शादी के टूटने की खबर से लालू प्रसाद यादव को बड़ा झटका लगा है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक लालू यादव की तबियत और भी बिगड़ गई है. चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे लालू प्रसाद यादव इन दिनों रिम्स मे भर्ती हैं. बेटे की तलाक की खबर सुनकर लालू यादव का बीपी और शुगर दोनों बढ़ गया है. रिम्स में डॉक्टर्स की टीम की उनकी देखरेख कर रही है. वहीं तेज प्रताप यादव अपने पिता लालू यादव से मिलने के लिए रांची जा रहे हैं. दोनों के बीच रिम्स में मुलाकात हो सकती है. सूत्रों के मुताबिक तेज प्रताप के नाम से रांची के एक होटल में तीन कमरे बुक हैं. Also Read - Lalu Prasad Yadav Bail: लालू प्रसाद यादव फिलहाल जेल में ही रहेंगे, कोर्ट ने कहा- दो महीने तक दायर न करें याचिका

वहीं दूसरी ओर तेजप्रताप यादव ने पत्नी ऐश्वर्या से तलाक की अर्जी पर पहली बार बयान दिया. शनिवार को न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए उन्होंने कहा, हां यह सच है कि मैंने अदालत में अर्जी दी है. घुट-घुट के जीने से कोई फायदा तो है नहीं. तेजप्रताप और ऐश्वर्य की शादी पांच महीने पहले हुई थी. तेजप्रताप और ऐश्‍वर्य पिछले चार महीने से साथ नहीं रह रहे हैं. रिपोर्ट के मुताबिक उन्‍होंने अपनी पत्‍नी पर प्रताड़ना का आरोप लगाया है. मीडिया कर्मियों द्वारा इस बारे में पूछे जाने पर उन्‍होंने सीधे कोई जवाब नहीं दिया, लेकिन कहा कि वह कृष्‍ण की तरह रहना चाहते हैं, ऐश्‍वर्य राधा नहीं बन पाई. बता दें कि ऐश्वर्या की स्कूली शिक्षा पटना में हुई है और उच्च शिक्षा दिल्ली में हुई है. दूसरी तरफ तेज प्रताप 12वीं पास हैं. Also Read - Bihar RJD में जंग, जगदानंद पर बरसे तेजप्रताप यादव, कहा-इन लोगों की वजह से लालू हैं जेल में

सूत्रों के मुताबिक, तेजप्रताप ने कुछ दिन पहले तलाक के लिए अदालत में अर्जी दाखिल की थी, लेकिन तकनीकी कारणों से राजद नेता की वह अर्जी स्वीकार नहीं की गई. इसके बाद शुक्रवार को उन्होंने नई अर्जी दाखिल की. अदालत की संबंधित इकाई (फाइलिंग सेक्शन) ने जरूरी कार्रवाई के लिए इसे आगे बढ़ा दिया है. तेजप्रताप खुद को कृष्ण और शिव भक्त बताते रहते हैं. वह मथुरा और देवघर जाते रहते हैं. ऐसे में 12 मई 2018 को शादी के बाद तेजप्रताप ने अपनी वैवाहिक जीवन में सुख, शांति और समृद्धि के लिए ‘कृष्णवतार’ का तीन दिनों तक मंचन करवाया था. शादी के एक दिन बाद 13 मई को राबड़ी देवी के घर और 14-15 मई को बांके बिहारी शिव मंदिर में उन्होंने कृष्णलीला करवाया गया था. Also Read - लालू प्रसाद यादव जेल से आने को हैं तैयार, फिर भी हो रही देर, क्योंकि...