PM Modi All Party Meet: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जम्मू-कश्मीर की अलग-अलग पार्टियों के 14 नेताओं की बैठक के बाद विपक्ष की प्रतिक्रियाएं भी आनी शुरू हो गई हैं. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बाद अब लालू प्रसाद यादव (Lalu Yadav) की राष्ट्रीय जनता दल (RJD) ने पीएम मोदी की बैठक के बाद निशाना साधा है. आरजेडी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से कहा कि मोदी सरकार ने जिन्हें नजरबंद और गुपकार गैंग कहा, उनके उपकार की जरुरत पड़ ही गई है.Also Read - Leopard Vs Dog: आवारा कुत्तों से भिड़ने की गलती कर बैठा तेंदुआ, फिर जो हुआ यकीन ना करेंगे

पार्टा ने अब से कुछ देर पहले ट्वीट कर कहा कि जिन्हें जेल में बंद किया, नजरबंद किया, उस ‘गुपकार गैंग’ के ‘उपकार’ और सहकार की जरूरत पड़ ही गई. सनक और हनक के बजाय कोई भी लोकतांत्रिक सरकार सहकार से चले तो बेहतर है. Also Read - इस शख्स के खाते में आया 286 गुना वेतन, तो कर्मचारी ने दिया इस्तीफा; अब मौके से फरार

इससे पहले सीएम ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) ने भी कश्मीरी नेताओं संग पीएम की बैठक पर तंज कसा था. उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर से राज्य का दर्जा छीनने की क्या जरुरत थी. इससे देश को बिल्कुल भी मदद नहीं मिली है. जम्मू-कश्मीर की आजादी नहीं छीननी चाहिए. उन्होंने आगे कहा कि वहां निरंकुश शासन से काफी बदनामी हुई. पीएम मोदी की बैठक किस मुद्दे पर कुछ पता नहीं. Also Read - सच्चा प्यार पाने के लिए लड़का बन गई ये लड़की, अपनाया ऐसा तरीका सोच में पड़ जाएंगे

बैठक के बाद क्या अन्य नेता-
गुलाम नबी आजाद
पीएम मोदी द्वारा जम्मू-कश्मीर के संबंध में बुलाई सर्वदलीय बैठक पर कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद (Congress Leader Ghulam Nabi Azad) ने कहा कि बैठक में हमने कांग्रेस की तरफ से सरकार के सामने 5 बड़ी मांगे सरकार के सामने रखी. इसमें केंद्र राज्य का दर्जा जल्द से जल्द से बहाल करे. हमने बैठक में कश्मीरी पंडितों को घाटी में बसाने की बात भी बोली. केंद्र सरकार जल्द से जम्मू-कश्मीर में चुनाव करवाएं. अधिकतर पार्टियों ने कहा कि 370 का मामला सुप्रीम कोर्ट में है.

उमर अब्दुल्ला
नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता उमर अब्दुल्ला (NC Leader Omar Abdullah) ने कहा कि हमने बैठक में कहा कि 5 अगस्त 2019 को केंद्र सरकार के द्वारा 370 को खत्म करने के फैसले को हम स्वीकार नहीं करेंगे. हम अदालत के जरिए 370 के मामले पर अपनी लड़ाई लड़ेंगे. लोग चाहते हैं कि जम्मू-कश्मीर को पूर्ण रूप से राज्य का दर्जा दिया जाए.

महबूबा मुफ्ती
पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती (PDP Chief Mehbooba Mufti) ने कहा कि मैंने बैठक में कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोग धारा 370 को रद्द होने से नाराज है. हम जम्मू-कश्मीर में धारा 370 को फिर से बहाल करेंगे. इसके लिए हम शांति का रास्ता अपनाएंगे. इस पर कोई समझौता नहीं होगा. मैंने बैठक में प्रधानमंत्री से कहा कि अगर आपको धारा 370 को हटाना था तो आपको जम्मू-कश्मीर की विधानसभा को बुलाकर इसे हटाना चाहिए था.