पटना: बिहार के विभिन्न जिलों में रविवार को आकाशीय बिजली (वज्रपात) गिरने की अलग-अलग घटनाओं में 10 लोगों की मौत हो गई. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य में वज्रपात से हुई 10 लोगों की मौत पर शोक व्यक्त करते हुए मृतकों के आश्रितों को तत्काल चार-चार लाख रुपये अनुग्रह राशि देने के निर्देश दिए हैं. Also Read - JDU में शामिल हुए बिहार के पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडे, CM नीतीश कुमार के आवास पर ली पार्टी की सदस्यता

बिहार में रविवार को वज्रपात की चपेट में आकर पूर्णिया जिले में तीन, बेगूसराय में दो तथा पटना, सहरसा, पूर्वी चम्पारण, मधेपुरा एवं दरभंगा में एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई. मुख्यमंत्री ने कहा कि आपदा की इस घड़ी में वह प्रभावित परिवारों के साथ हैं. Also Read - Bihar Opinion Poll: बिहार में लोगों की पसंद हैं पीएम मोदी, नीतीश का प्रभाव कम; सरकार बदलना चाहते हैं 50 प्रतिशत से ज्यादा मतदाता

उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा, “सभी लोग खराब मौसम में पूरी सतर्कता बरतें. खराब मौसम होने पर वज्रपात से बचाव के लिए आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा समय-समय पर जारी किए गए सुझावों का अनुपालन करें. खराब मौसम में घरों में रहें और सुरक्षित रहें.” Also Read - Bihar Assembly Elections 2020: बिहार में कैसे होंगी चुनावी रैलियां और कितनी जुटेगी भीड़? आयोग ने दिया हर सवाल का जवाब

बता दें कि कोरोना नें कोरोना वायरस भी मुश्किल बनी हुई. उल्लेखनीय है कि राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या में तेजी से वृद्धि दर्ज की गई है. बिहार में रविवार को 1,412 नए मामलों के सामने आने के बाद राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या 26,379 तक पहुंच गई है. अब तक 16,597 मरीज ठीक हो चुके हैं। 9,602 मरीज उपचाराधीन हैं. कोरोना के कारण अब तक 179 लोगों की मौत हो गई. बिहार में रिकवरी दर 62़ 91 प्रतिशत तक पहुंच गई है.