पटना: बिहार में लॉकडाउन 16 दिन के लिए बढ़ा दिया गया है, ये खबर मीडिया-सोशल मीडिया में थी. इस खबर को बिहार सरकार के सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग ने फर्जी बताया है. विभाग ने कहा है कि फिलहाल सरकार ने ऐसा कोई आदेश जारी नहीं किया है. Also Read - बिहार में कोरोना के मरीज 90 हजार के पार, अब तक 60 हजार हुए ठीक, 474 की मौत

इससे पहले बिहार सरकार के गृह विभाग द्वारा 29 जुलाई को जारी एक पत्र में पहले लॉकडाउन का आदेश निर्गत करने का पत्र सोशल मीडिया पर था. मीडिया में भी ये प्रसारित हुआ. अब सूचना एवं जनसंपर्क विभाग ने इसे फर्जी बताया है. इधर, सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा अधिाकरिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा गया, “सर्व साधारण को सूचित किया जाता है कि सोशल मीडिया में लॉकडाउन के संबंध में एक भ्रामक पत्र वायरल हो रहा है, जिसके संबंध में गृह विभाग, बिहार सरकार ने स्पष्ट किया है कि ये पूरी तरह फेक एवं भ्रामक है.” Also Read - Bihar Flood: बिहार में बाढ़ से जनजीवन प्रभावित, इन जिलों में हालत खराब

जो पत्र फर्जी बताया गया है, उसमें लिखा हुआ था कि कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों (Corona virus) के कारण बिहार में एक बार फिर से लॉकडाउन को बढ़ा दिया गया है. खबर में कहा गया था कि राज्य सरकार ने बिहार में लॉकडाउन को 16 दिनों के लिए बढ़ा दिया गया है. यह लॉकडाउन (lockdown extension in bihar) 1 अगस्त से लागू होगा जो कि 16 अगस्त तक जारी रहेगा. इस दौरान सभी तरह के बाजार और दुकाने पूरी तरह से बंद रहेंगे केवल अतिआवश्यक सेवाओं से जुड़ी दुकानें जैसे मेडिकल स्टोर वगैरह ही खोले जाएंगे. ये बातें पूरी तरह से फर्जी बताई गई है. Also Read - बिहार में बाढ़ से स्थिति बदहाल, बुरा है इन 16 जिलों का हाल, 75 लाख से ज्यादा आबादी प्रभावित