पटना: बिहार में विपक्षी दलों के महागठबंधन में शामिल राष्ट्रीय जनता दल (राजद) द्वारा अपने हिस्से में आई 19 सीटों में से 18 सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा के बाद यह तय हो गया है कि पूर्व मुख्यमंत्री और राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद की पत्नी राबड़ी देवी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी. पार्टी ने सारण लोकसभा क्षेत्र से विधायक चंद्रिका प्रसाद राय को टिकट दिया है.

 

पूर्व मुख्यमंत्री दारोगा राय के पुत्र और विधायक चंद्रिका राय पूर्व स्वास्थ्य मंत्री व लालू यादव तथा राबड़ी देवी के पुत्र तेज प्रताप यादव के ससुर हैं. पिछले लोकसभा चुनाव में सारण से राजद के टिकट पर राबड़ी देवी चुनाव मैदान में उतरी थीं लेकिन उन्हें हार मिली थी और भाजपा नेता राजीव प्रताप रूडी यहां से जीतकर संसद पहुंचे थे. लोकसभा चुनाव 2019 में राजद ने चंद्रिका प्रसाद राय को महागठबंधन का प्रत्याशी बनाया है. राजद के सूत्रों की मानें तो राजद द्वारा चंद्रिका राय को टिकट देने से तेज प्रताप नाराज बताए जा रहे हैं. तेज प्रताप ने अपनी शादी के कुछ ही महीनों के बाद पत्नी ऐश्वर्या से तलाक की अर्जी स्थानीय अदालत में दी थी.

कांग्रेस में शामिल हुए भाजपा के सांसद, कभी CM योगी के खिलाफ लिखा था PM मोदी को पत्र

सीट बंटवारे से नाराज तेज प्रताप ने छात्र राजद के संरक्षक पद से दिया इस्तीफा
इससे पहले गुरुवार को सीट बंटवारे से नाराज तेज प्रताप ने छात्र राजद के संरक्षक पद से इस्तीफा दे दिया था. वह जहानाबाद और शिवहर से अपनी पसंद का उम्मीदवार घोषित करना चाहते थे. बिहार में लोकसभा चुनाव के सभी सात चरणों में मतदान होना है. सारण में पांचवें चरण में 6 मई को मत डाले जाएंगें.