नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव के लिए बिहार में भाजपा और उसके सहयोगी दलों में सीट बंटवारे के बीच राष्ट्रीय जनता दल ने राज्य में राजग की हालत पतली होने पर जोर दिया, वहीं भाजपा ने कहा कि महागठबंधन के नेता मुंगेरी लाल के हसीन सपने देख रहे हैं और उनमें सीटों की घोषणा होते ही गठबंधन बिखर जाएगा. उल्लेखनीय है कि बिहार में लोकसभा की कुल 40 सीटों में से भाजपा और जद (यू) 17-17 तथा लोजपा छह सीटों पर चुनाव लड़ेगी. राजग में सीटों के बंटवारे की घोषणा के बाद राजद नेता एवं बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने ट्वीट किया कि लोजपा और जदयू को 2 साल बाद प्रधानमंत्री मोदी से नोटबंदी पर सवाल पूछने का फ़ायदा मिला. उल्लेखनीय है कि आगामी लोकसभा चुनाव के लिए बिहार में भाजपा और उसके सहयोगी दलों के बीच सीट बंटवारे को लेकर पिछले कुछ दिनों से राजनीतिक माहौल गर्म था. लोजपा के नेता चिराग पासवान के एक ट्वीट को लेकर कई तरह की अटकलें लगाई जा रही थीं, जिसमें उन्होंने राजग के गंभीर हालत में होने की बात कही थी.

बिहार में 17-17 सीटों पर लड़ेंगी बीजेपी/जेडीयू, पासवान को 6 के साथ 1 राज्यसभा सीट भी मिली

राजद नेता तेजस्वी यादव ने कटाक्ष करते हुए कहा कि जनादेश चोरी के बाद भी भाजपा बिहार में इतनी मज़बूत हुई कि 22 वर्तमान सांसद होने के बावजूद 17 सीट पर चुनाव लड़ेगी और 2 सांसद वाले नीतीश भी 17 सीट पर लड़ेंगे. अब समझ जाइए राजग की कितनी पतली हालत है. महागठबंधन में हाल ही में शामिल हुए रालोसपा नेता उपेंद्र कुशवाहा भी तेजस्वी यादव के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद थे. प्रेस के साथ बात करते हुए कुशवाहा ने भी राजग में सीट बंटवारे पर तंज कसा. कुशवाहा ने कहा, ‘भाजपा के लोग ज्यादा कहते थे कि 56 इंच का सीना है, तो छप्पन इंच के सीना वाले नतमस्तक हो गए नीतीश कुमारजी के सामने और आधा-आधा बंटवारा कर दिया. किसको कितनी सीटों पर चुनाव लड़ना है, इससे जनता को मतलब नहीं है.’ राजद के प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मुकेश साहनी उर्फ सन ऑफ मल्लाह भी महागठबंधन में शामिल हुए.

मंगल पांडेय बोले- सीट बंटते ही टूटेगा महागठबंधन
इधर, तेजस्वी यादव के बयान पर चुटकी लेते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं राज्य सरकार में मंत्री मंगल पांडे ने कहा कि महागठबंधन के नेता मुंगेरी लाल के हसीन सपने देख रहे हैं. उसके नेताओं को मालूम है कि वे जिस दिन सीटों का बंटवारा करेंगे उसी दिन महागठबंधन टूट जाएगा. उन्होंने कहा कि कई नेता महागठबंधन का साथ छोड़ देंगे और इसलिए महागठबंधन के नेता सीट बंटवारे का मामला लंबा खींच रहे हैं. मंगल पांडे ने कहा कि राजग ने सभी 40 लोकसभा सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है. उन्होंने दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह एवं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में राजग बिहार में पहले से बेहतर परिणाम देगा. इधर, बिहार प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नित्यानंद राय ने कहा कि बिहार में भाजपा, जदयू और लोजपा का गठबंधन मजबूती के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में एकजुट है. उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में चालीस की चालीस सीटों पर राजग को जीत दिलाने एवं फिर से नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए सभी दलों के नेताओं ने संकल्प व्यक्त किया है.

राजग के सीट बंटवारे से सांसद अरुण कुमार दुखी
इधर, राजग से अलग हुए उपेन्द्र कुशवाहा की पार्टी (रालोसपा) छोड़ने वाले सांसद अरुण कुमार ने कहा कि वह दुखी हैं, क्योंकि नीतीश कुमार के कारण राजग गठबंधन में उन्हें नजरंदाज किया गया. उन्होंने आरोप लगाया कि नीतीश कुमार के सामने भाजपा ने आत्मसमर्पण कर दिया है. सीटों का उचित बंटवारा नहीं हुआ है. उल्लेखनीय है कि सांसद अरुण कुमार ने कुछ समय पहले उपेन्द्र कुशवाहा से अपनी राहें अलग कर ली थी और ऐसी चर्चा थी कि उन्हें राजग में स्थान दिया जाएगा. आपको बता दें कि रालोसपा के राजग से अलग होने के बाद पार्टी के दो विधान पार्षदों ने भी उपेंद्र कुशवाहा का साथ नहीं दिया. इन दोनों नेताओं ने बयान दिया कि राजग के साथ ही बने रहेंगे. हालांकि अब सांसद अरुण कुमार की ‘उपेक्षा’ के बाद इन विधान पार्षदों का रुख देखना भी रोचक होगा.

(इनपुट – एजेंसी)