पटना. राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के अध्यक्ष लालू प्रसाद के पुत्र और बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव (Tejpratap Yadav) निजी जिंदगी के कारण भले ही पिछले कुछ दिनों से राजनीति से दूर रहे हों, लेकिन एकबार फिर वे सक्रिय रूप से राजनीति में कदम रखने वाले हैं. जी हां, तेजप्रताप यादव अब जनता दरबार लगाएंगे और लोगों की समस्याएं सुनेंगे. तेजप्रताप यादव ने शनिवार को ट्वीट किया, “आम जनता और पार्टी कार्यकर्ताओं की समस्याओं को सुनने और उसके समाधान के लिए पार्टी कार्यालय में उपस्थित रहूंगा.”

इसके अलावा तेजप्रताप ने अपने टि्वटर हैंडल पर शनिवार को एक और ‘धमाका’ किया. उन्होंने एक Video शेयर किया, जिसमें एक नए संगठन की झलक दिखाई गई है. ‘धर्म निरपेक्ष सेवक संघ’ के नाम से जारी इस वीडियो के जरिए तेजप्रताप ने नया संगठन बनाने की जानकारी दी है या यह उनका नया राजनीतिक प्लेटफॉर्म है, इसकी आधिकारिक सूचना अभी नहीं मिली है. RSS की तरह मिलते-जुलते DSS नाम के इस संगठन का काम क्या होगा, इसके बारे में हो सकता है कि तेजप्रताप यादव आने वाले दिनों में लोगों को जानकारी दें.

इससे पहले तेजप्रताप ने अपने जनता दरबार शुरू करने की सूचना भी सोशल मीडिया के जरिए दी. जनता दरबार का समय दिन में 10 बजे दिन से दो बजे तक रहेगा. राजद के एक नेता ने बताया कि तेजप्रताप का जनता दरबार 24 दिसंबर से शुरू होगा. वे प्रतिदिन चार घंटे राजद प्रदेश कार्यालय में उपस्थित रहेंगे. तेजप्रताप ने अपने ट्वीट में कहा, ‘आम जनता और पार्टी कार्यकर्ताओं की समस्याओं को सुनने और उसके समाधान के लिए उपस्थित रहूंगा पार्टी कार्यालय में.’ उल्लेखनीय है कि तेजप्रताप पिछले दिनों घरेलू विवादों और पत्नी से तलाक को लेकर चर्चा में रहे थे. तेजप्रताप अपनी पत्नी ऐश्वर्या से तलाक की अर्जी देने के बाद अब तक अपने घर नहीं गए हैं.

(इनपुट – एजेंसी)