पटना: बिहार की प्रमुख विपक्षी पार्टी राजद से राज्यसभा सदस्य और पार्टी प्रमुख लालू प्रसाद की बड़ी बेटी मीसा भारती के अपने दोनों भाइयों तेजप्रताप और तेजस्वी के बीच ‘मनमुटाव’ का जिक्र किए जाने के बाद से तेजस्वी इस पर कोई भी टिप्पणी करने से बचते दिखे. वहीं, बड़े भाई तेजप्रताप यादव ने मनमुटाव की खबरों से इंकार किया.

मीसा ने सोमवार को मनेर में एक कार्यक्रम के दौरान अपने उक्त कथन पर दसी दिन देर शाम सफाई देते हुए हालांकि यह जरूर कहा था कि वे सिर्फ पार्टी के कार्यकर्ताओं को आपसी मनमुटाव दूर कर चुनाव का समय नजदीक आने के मद्देनजर एकजुट होने को कह रही थीं. इस बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया जाने लगा. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा था, कार्यकर्ताओं को आपस का मनमुटाव दूर कर एकजुट होने के बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया जा रहा है. ख़बर बेबुनियाद है. मैं इसका पुरज़ोर खंडन करती हूं.

अपनी बहन द्वारा दिए गए बयान के बारे में पूछे जाने पर बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने इस बारे में कुछ पता नहीं होने की बात कहते हुए टिप्पणी देने से इंकार कर दिया. तेजस्वी के बड़े भाई तेजप्रताप यादव हैं, जिनके हाल में दी गयी टिप्पणियों ने उन अटकलों को जन्म दिया था कि दोनों भाइयों में सबकुछ ठीक नहीं है.

IRCTC घोटाला मामले में लालू यादव, राबड़ी देवी और तेजस्वी को मिली नियमित जमानत

तेजप्रताप ने ट्वीट कर मंगलवार को कहा कि लालू परिवार में फूट की तलाश करने में विरोधियों से लेकर मीडिया तक को बहुत रस मिलता है. आप मुग़ालते में रहें, हमें खुशी होगी. लेकिन भारी निराशा हाथ लगने वाली है, क्योंकि न तो लालू परिवार में कोई समस्या है और न राजद परिवार में. बिहार ने मन बना लिया है असुरों को बाहर फेंकने का…

लालू के कुनबे में सब कुछ ठीक नहीं, मीसा ने माना तेजस्‍वी और तेजप्रताप के बीच हैं मतभेद

इससे पूर्व मनेर में एक कार्यक्रम के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं को एक जुट होने की नसीहत देते हुए मीसा ने कहा था, ‘‘…समय आ गया है आप सभी लोग एकजुट हों. थोड़ा मनमुटाव किसमें नहीं. जब हमारे हाथ की पांच अंगुली बराबर नहीं हैं. हमारे परिवार में भाई—भाई में मनमुटाव है तो फिर राष्ट्रीय जनता दल तो बहुत बड़ा परिवार है. वोट की कमी राजद को नहीं है पर कैसे उसे अपने पाले में कर लें.