पटना: बिहार विधानसभा चुनाव के बाद सोमवार से प्रारंभ नए विधानसभा के पहले सत्र में विपक्ष ने अपने तेवर दिखाए. वहीं, ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) पार्टी के विधायक अख्तरुल इमाम, जिन्होंने शपथ लेते समय देश के नाम हिंदुस्तान के नाम पर ही आपत्ति जता दी, जिससे सत्ता पक्ष नाराज नजर आया. विधानसभा के पहले दिन प्रोटेम स्पीकर जीतन राम मांझी ने सभी नवनिर्वाचित विधायकों को शपथ दिलवा रहे थे. इसी दौरान असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम के विधायक अख्तरुल इमान ने शपथ लेते वक्त उसमें देश के नाम के लिए लिखे हिंदुस्तान शब्द के स्थान पर भारत कहने की इजाजत मांगी. इमान ने उर्दू में शपथ लेने की अनुमति मांगी थी. Also Read - UP Panchayat Election 2021: विधानसभा चुनाव से पहले लिटमस टेस्ट, राजभर-ओवैसी साथ लड़ेंगे पंचायत चुनाव

इमान ने कहा कि संविधान में देश का नाम भारत लिखा हुआ है. बाद में उन्होंने उर्दू भाषा में शपथ लेते हुए देश का नाम भारत ही पढ़ा. इधर, इमान की इस आपत्ति पर सत्ता पक्ष के तेवर कड़े हो गए. भाजपा के विधायक नीरज कुमार बबलू ने कहा कि, “जिन लोगों को हिंदुस्तान शब्द बोलने से इतनी ही आपत्ति हो रही है, तो उन्हें यह देश छोड़कर पाकिस्तान चले जाना चाहिए.” उन्होंने कहा कि अब देश का नाम बोलने से ही लोगों को परेशानी हो रही है. Also Read - Sakshi Maharaj का बड़ा बयान, ओवैसी ने बिहार में की थी BJP की मदद, अब बंगाल-UP में भी करेंगे

एआईएमआईएम विधायक इमान का कहना है कि, “शपथ संविधान के अनुसार ग्रहण की जाती है, जिसमें देश के लिए हर जगह भारत लिखा हुआ है. हम विधायक हैं, हमें संविधान को सबसे ऊपर रखना चाहिए.” Also Read - पूर्वांचल में असदुद्दीन ओवैसी की धमक, जौनपुर होते हुए पहुंचेंगे आजमगढ़

जदयू के विधायक मदन सहानी ने कहा कि नए विधायक, सभी का ध्यान खींचने के लिए कुछ अलग करना चाहते हैं. उन्होंने हालांकि इसे गैरजरूरी बताते हुए कहा कि शपथ ग्रहण समारोह के दौरान हिंदुस्तान का इस्तेमाल करने में कोई बुराई नहीं है. इससे पहले सदन की कार्यवाही प्रारंभ होने के पहले कांग्रेस और वामपंथी दलों के विधायकों ने सदन के बाहर विभिन्न मुद्दों पर प्रदर्शन किया. पांच दिनों तक चलने वाले इस सत्र में पहले दो दिनों तक नवनिर्वाचित विधायकों को शपथ दिलाई जाएगी.